'संयुक्त निवेश कोष' की स्थापना करेगा रूस

पणजी : भारत के बुनियादी ढांचा क्षेत्र में पहली बार 50 करोड़ डॉलर की राशि देने की सहमति देने वाले रूस ने एक अरब की राशि वाले 'रूस भारत निवेश कोष' की स्थापना के लिए लगभग इतनी ही राशि नवगठित नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंड फंड (एनआईआईएफ) में भी निवेश करेगा.

इस बारे में आरडीआईएफ के सीओ किरील दिमित्रेव ने बताया कि इस संयुक्त कोष में 'रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष' (आरडीआईएफ) 50 करोड़ डॉलर निवेश करेगा, जो 'भारत में रूसी कारोबारी गतिविधि के लिए आकर्षक निवेश के अवसरों और विकास' का समर्थन करेगा.

दिमित्रेव ने चर्चा में यह भी बताया कि रूसी कलपुर्जों सहित इस धन का निवेश बुनियादी ढांचा परियोजना में किया जाएगा. इसके अलावा आपने ऊर्जा, पेट्रोकेमिकल, परिवहन बुनियादी ढांचा और विभिन्न परियोजनाओं को लेकर भी आशा जाहिर की. कोष को शुरू करने के उद्देश्य से यह समझौता नवगठित एनआईआईएफ के लिए अपनी तरह की पहली ऐसी साझेदारी है.

भारत-रूस के बीच 16 समझौते, देश को मिलेगा एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -