श्री श्री रविशंकर को रूस की यूनिवर्सिटी ने दी ये उपाधि, जानिए क्या है वजह

Jun 29 2019 01:10 PM
श्री श्री रविशंकर को रूस की यूनिवर्सिटी ने दी ये उपाधि, जानिए क्या है वजह

मास्को: आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर को भारत और रूसी संघ के मध्य इंटर कल्चरल मित्रता के विकास में उनके योगदान के लिए रूस स्थित यूराल फेडरल यूनिवर्सिटी ने डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया है. श्री श्री ने एक मेमोरेंडम और एमओयू भी साइन किया जो ओडिशा में बनी श्री श्री विश्वविद्यालय के साथ एक करार के तौर पर है. ये देश का प्रथम अल्कोहल, ड्रग्स और धुआं रहित परिसर है.

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, यूराल के रेक्टर विक्टर कोकश्रोव ने 'द आर्ट ऑफ लिविंग' जैसे संगठन को स्वेच्छा से संचालित करने के लिए श्रीश्री की सराहना की. ये संस्था 80,000 बच्चों को 618 स्कूलों में निशुल्क शिक्षा देती है. अपने स्वीकृति भाषण में, श्री श्री ने कहा कि शांतिपूर्ण समाज बनाने के लिए सबसे आवश्यक मात्र शिक्षा ही है. यही वो ऐसा टूल है जो विश्व भर में प्रेम और सद्भाव फैला सकता है.

श्री श्री रविशंकर ने कहा कि चाहे वो प्रौद्योगिकी, कला या विज्ञान या मानविकी हो, विश्वविद्यालय ही हैं जो हमें एक दृष्टि देते हैं, एक जीवन क्या है, किसी का जीवन कैसा चलना चाहिए, इसकी दृष्टि भी हमें यहीं से मिलती है. हमारे पास जिंदगी को जोड़ने की तकनीक है, किन्तु हमें एक ऐसी शिक्षा की आवश्यकता है जो दिलों को भी जोड़े, जहां मानवीय मूल्यों को महत्व दिया जाता हो.

क्या आपने देखी है पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रम्प की जुगलबंदी, इस वीडियो में देखिए उनकी दोस्ती

G 20 समिट: जब ऑस्ट्रेलिया के पीएम ने किया ट्वीट, लिखा- 'कितना अच्छा है मोदी'

लाहौर में स्थापित हुई महाराजा रणजीत सिंह की आदमकद प्रतिमा, जानिए क्या है विशेषता