रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 5 पैसे बढ़कर 75.04 पर बंद हुआ

आईपीओ से डॉलर की आमद बढ़ने की प्रत्याशा में भारतीय रुपया शुक्रवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 5 पैसे बढ़कर 75.04 पर तीन दिन की गिरावट के रुझान को समाप्त कर दिया। हालांकि, रुपये की वसूली स्थानीय इक्विटी में कमजोरी के कारण सीमित थी। 

विदेशी मुद्रा  के अनुसार, भू-राजनीतिक चिंताओं, कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों और फेडरल रिजर्व के कठोर रुख से स्थानीय मुद्रा पर असर पड़ा।

इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 75.12 प्रति डॉलर पर खुला, जिसमें इंट्रा-डे हाई 74.88 और 75.13 का निचला स्तर था। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले देशी मुद्रा 75.04 पर दिन समाप्त हुई, जो 75.09 के अपने पिछले अंत से 5 पैसे ऊपर थी। इस बीच, अमेरिकी डॉलर सूचकांक छह मुद्राओं की एक टोकरी बनाम ग्रीनबैक की ताकत को मापने के लिए 0.11 प्रतिशत बढ़कर 97.35 हो गया।

इस सप्ताह अमेरिकी डॉलर के मुकाबले स्थानीय मुद्रा में 61 पैसे की गिरावट आई है। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड की कीमत 0.49 प्रतिशत बढ़कर 89.78 डॉलर प्रति बैरल हो गई।

बीएसई सेंसेक्स 76.71 अंक या 0.13 प्रतिशत गिरकर 57,200.23 पर, जबकि व्यापक एनएसई निफ्टी 8.20 अंक या 0.05 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,101.95 पर बंद हुआ। स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशक गुरुवार को पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाली कर रहे थे, जिन्होंने 6,266.75 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री की।

विंडीज के खिलाफ घर में शेर है टीम इंडिया, पिछले 16 सालों से नहीं हारी है कोई ODI सीरीज

110 किमी साइकिल चलाकर कलेक्ट्रेट पहुंचा बुजुर्ग, रोते हुए बोला- 'पैसे नहीं हैं, कल से भूखा हूं...'

असम: इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी ने सोनितपुर में रक्तदान शिविर का आयोजन किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -