दिल के लिए बेहद लाभकारी है दौड़ना, जानें फायदे और सावधानियां

दिल के लिए बेहद लाभकारी है दौड़ना, जानें फायदे और सावधानियां

दौड़ना एक बहतरीन एक्सरसाइज है. यह फिट रहने के सबसे प्रभावी उपायों में से एक है. इसके अलावा दौड़ना आपके दिल के लिए भी स्वास्थ्यवर्धक है. दौड़ने से दिल की धड़कनें बढ़ जाती है तो अधिक मात्रा में रक्त पंप करता है. इससे रक्त नलिकाओं का लचीलापन बरकरार रखने में सहायता मिलती है. इससे हृदय शक्तिशाली बनता है और हृदय रोगों की आशंका कम हो जाती है. दौड़ना रक्तदाब को नियंत्रित कर उच्च रक्तदाब के खतरे को कम करता है. आइये जानते हैं दौड़ने से क्या लाभ होता है. 

जिन लोगों को दिल से संबंधित कोई बीमारी है, उन्हें लंबी दूरी तक दौड़ने से बचना चाहिए. उनके लिए ऐसा करना जानलेवा भी हो सकता है. इस बारे में एक्सपर्ट कहते हैं कि अगर आपने पहले कभी दौड़ नहीं लगाई है, लेकिन अब लंबी दूरी तक दौड़ना शुरू करना चाहते हैं, तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. अगर आपकी उम्र 40 वर्ष से अधिक है, तो दौड़ना शुरू करने से पहले डॉक्टर की राय जरूर ले लें.

सावधानी बरतें
पहली बार दौड़ने के बाद अपने अनुभवों को एक कागज पर लिखें कि आप कितनी गति से दौड़े, कितनी दूरी तक दौड़े और आपने क्या महसूस किया. इसके बाद अपनी गति को प्रति सप्ताह 10 प्रतिशत की दर से बढ़ाएं. एक सप्ताह में 5-6 दिन से अधिक न दौड़ें. सप्ताह में एक या दो दिन पूरी तरह शरीर को आराम दें. आराम करते समय आपके दिल की धड़कनें 10 प्रतिशत से अधिक बढ़ जाएं तो आराम करें. यह आपके शरीर के थकने का संकेत हो सकता है. 

सप्ताह में चार-पांच बार आधा घंटे दौड़ें
अगर आप सप्ताह में चार-पांच बार भी आधा-आधा घंटा दौड़ेंगे तो आपके स्वास्थ्य में आश्चर्यजनक रूप से परिवर्तन आ जाएगा. जो लोग नियमित रूप से दौड़ते हैं, उनमें कोरोनरी हार्ट डिजीज होने की आशंका 30-40 प्रतिशत तक कम हो जाती है. नियमित रूप से दौड़ने से स्ट्रोक होने की आशंका भी कम हो जाती है. दौड़ने से रक्तदाब और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है.  

मकड़ी के काटने पर होगई सूजन तो अपनये ये इलाज

बारिश में बढ़ जाती है अस्थमा रोगियों में अटैक की आशंका, ऐसे रखें ध्यान

Recipe : बिना बेसन के भी बना सकते हैं स्पंजी ढोकला