सबरीमाला तीर्थ यात्रा करने के लिए बच्चों के लिए कोविड रिपोर्ट अनिवार्य नहीं: केरल सरकार


तिरुवनंतपुरम: केरल सरकार ने शनिवार, 27 नवंबर को घोषणा कि की 10 साल से कम उम्र के बच्चों को सबरीमाला मंदिर में जाने से पहले अनिवार्य आरटी-पीसीआर परीक्षण से छूट दी जाएगी। नई गाइडलाइन में कहा गया है कि बड़ों को यह गारंटी देनी चाहिए कि उनके साथ आने वाले बच्चे कोविड नियमों का सख्ती से पालन करें, जिसमें मास्क पहनना, सैनिटाइजर रखना और सामाजिक दूरी बनाए रखना शामिल है।

नियम के अनुसार बच्चों के स्वास्थ्य के लिए बड़े भी जिम्मेदार होते हैं। दूसरी ओर, दस साल से ऊपर के तीर्थयात्रियों के पास या तो हाल ही में नकारात्मक आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट होनी चाहिए या दोनों टीके लग चुके होंगे। 16 नवंबर से शुरू हुआ दो महीने का मंदिर सत्र जनवरी के तीसरे सप्ताह में कुछ दिनों की छुट्टी के साथ समाप्त होगा।

एहतियात के तौर पर, इस सीजन में भक्तों की दैनिक संख्या अधिकतम 30,000 तक सीमित कर दी गई है, जिसे या तो पहले से बुक किया जाना चाहिए या घटनास्थल पर  किया जाना चाहिए, जिसके लिए काउंटर स्थापित किए गए हैं। मंदिर के अधिकारियों के अनुसार, लगभग 1.3 मिलियन तीर्थयात्रियों ने अपने मंदिर के दर्शन की प्री-बुकिंग कर ली है।

सोशल मीडिया पर उर्वशी रौतेला ने किया अपने सोलमेट का खुलासा!

पंजाब-हिमाचल के रेल यात्रियों के लिए बड़ी खबर, 1 दिसंबर से शुरू हो जाएगी ये ट्रेन

IND vs NZ 1st Test, Day 3: दूसरी इनिंग की शुरुआत में ही टीम इंडिया ने खोया अपना पहला विकेट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -