11 अप्रैल तक देश में बर्बाद हुई 23 फीसदी कोरोना वैक्सीन, RTI में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

Apr 20 2021 12:24 PM
11 अप्रैल तक देश में बर्बाद हुई 23 फीसदी कोरोना वैक्सीन, RTI में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन की कमी की खबरों के बीच एक नई जानकारी ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. खबर मिली है कि 11 अप्रैल तक देश में 23 फीसदी कोरोना वैक्सीन बर्बाद हो चुकी है. खास बात है कि वैक्सीन बर्बादी के मामले में तमिलनाडु, हरियाणा, पंजाब, मणिपुर और तेलंगाना राज्य सबसे आगे हैं. वैक्सीन को लेकर दाखिल की गई एक RTI में जवाब मिला है कि राज्यों के इस्तेमाल के लिए आए 10.34 करोड़ वैक्सीन डोज में से 44.78 लाख डोज बर्बाद हो गए हैं.

गौरतलब है कि एक ओर देश के कई राज्यों में वैक्सीन की किल्लत हो रही हैं. वहीं, दूसरी तरफ कुछ ऐसे राज्य भी हैं, जो लगातार वैक्सीन की बर्बादी कर रहे हैं. हाल ही में एक RTI से मिली जानकारी दर्शाती है कि देश में 11 अप्रैल तक 23 फीसदी वैक्सीन की खुराक बर्बाद हो चुके हैं. तमिलनाडु में वैक्सीन की बर्बादी सबसे अधिक है. यहां 11 अप्रैल तक 12.10% बर्बाद हो चुकी है. दूसरे नंबर पर 9.74% के साथ हरियाणा है. इसके बाद पंजाब में 8.12, मणिपुर में 7.80, तेलंगाना में 7.55 फीसद वैक्सीन बर्बाद हो चुकी है.

देश के कुछ राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे भी हैं, जहां वैक्सीन की बर्बादी नहीं हुआ है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, केरल, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, मिजोरम, गोवा, दमन एंड दियु, अंडमान एंड निकोबार आईलैंड और लक्षद्वीप में वैक्सीन की बर्बादी नहीं हुई है. देश में बीती 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान आरंभ हो गया था. देश में फिलहाल 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा है. 

राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के एक महीने की लागत जीडीपी का 1-2 प्रतिशत है: बोफो सिक्योरिटीज

IOC और BPCL का बड़ा ऐलान, दिल्‍ली-हरियाणा-पंजाब के अस्‍पतालों में की जाएगी ऑक्‍सीजन की सप्लाई

रिजर्व बैंक ने एआरसी नियमों की समीक्षा के लिए समिति का किया गया गठन