RSS ने मुस्लिमो और ईसाइयो के लिए किया ऐसा अनोखा काम

Jan 10 2016 02:54 PM
RSS ने मुस्लिमो और ईसाइयो के लिए किया ऐसा अनोखा काम

रांची: जो लोग राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) को कट्टर हिंदूवादी संगठन मानते है यह खबर उन लोगो के मुह बंद करने वाली है क्योकि हम आपको संघ का एक ऐसा काम बताने जा रहे है जिसके बारे में जानकर आरएसएस के प्रति आपकी सोच परिवर्तित हो जाएगी. RSS और उससे जुड़े आनुषांगिक संगठनों की एक ऐसी मिसाल देखने को मिली है जिसने धार्मिक कट्टरवाद की आरएसएस की छवि को झुठलाते हुए सर्वधर्म संभाव का संदेश दिया है. मुस्लिम और ईसाइयो के लिए संघ ने एक अभियान शुरू किया.

इस अभियान का लक्ष्य था मुस्लिमो और ईसाइयो को तकनीकी प्रशिक्षण कार्य देना जो की बहुत ही सफल और लोकप्रिय हो रहा है. संघ अब इन लोगो को सीधे रोजगार मुहैया करा रहा है. आपको बता दे की राजधानी से महज पचास किलोमीटर की दुरी पर राज्य के बड़े विद्युत उत्पादक सयंत्र में इस मिसाल का व्यापक असर देखने को मिला है.

कभी यहां पर अपराध के नाम पर हफुआ गांव पहचाना जाता था. यह पूरा गांव मुस्लिम बहुल था. रोजगार का कोई साधन नही था. लोगो ने अपराध का रास्ता चुना इसी कारण से यह गांव अपराध के नाम से प्रख्यात था लेकिन अब आरएसएस इस गांव को अपराध के दलदल से बहार खिंच लाया है.

संघ के क्षेत्रीय संघचालक सह राष्ट्रीय सेवा भारती के अध्यक्ष सिद्धिनाथ सिंह ने अपने अभियान के तहत इस गांव के तक़रीबन 300 से अधिक युवकों को तकनीकी प्रशिक्षण देकर हुनरमंद बना दिया. अब इस गांव में कोई भी युवक बेरोजगार नही है और ना ही पुलिस नहीं आती. सभी लोग गाढ़ी मेहनत से पैसा कमाते है. इतना ही नही कई लोग तो विदेशो में भी नौकरी कर रहे है.