संघ की केरल में राष्ट्रपति शासन की मांग

नई दिल्ली. बीते दिनों उज्जैन के आरएसएस कार्यकर्ता कुंदन चंद्रावत ने विवादित बयान दिया,जिसके कारण उन्हें संघ से निकाल दिया गया. चंद्रावत ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि वह केरल के मुख्यमंत्री का सिर काट कर लाने पर एक करोड़ रुपए उसे इनाम में देगे. बता देगे इसी सिलसिले में केरल में संघ कार्यालय पर हंगामा भी हुआ था. जिसके कारण केरल में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों के लेकर भारतीय स्वयं सेवक संघ लगातार नाराजगी जाहिर कर रहा है.

अब आरएसएस संघ प्रचारक राकेश सिन्हा ने बताया कि केरल अराजकता के चंगुल में फंस गया है. उन्होंने कहा कि मैं केरल में राष्ट्रपति शासन की मांग करता हूं, इस के अलावा कोई और उपाय नहीं है. कोझिकोड में रविवार को फिर आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला किया गया. घायल होने के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया.

बता दे कि इस जानलेवा हमला के आरोपी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया मार्क्सवादी के है, जिनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया.आरएसएस के कार्यालय में बम धमाके में तीन कार्यकर्ता घायल हो गए थे. यह धमाका नाडापुरम के आरएसएस कार्यालय के पास हुआ था. अचानक बाइक पर सवार दो व्यक्ति कार्यालय के पास देसी बम फेंक कर फरार हो गए. राज्य में इससे पहले भी आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ था.

ये भी पढ़े 

फिर से केरल में बनाया RSS स्वयंसेवकों को निशाना

BJP और RSS पर दिग्विजय सिंह का हमला

केरल के CM का सिर कलम करने वाले को दूंगा 1 करोड़, कुंदन चंद्रावत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -