फिर गरमाया CAA का मुद्दा, संघ प्रमुख मोहन भागवत ने दिया बड़ा बयान

नागपुर: दशहरे के अवसर पर स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए RSS चीफ मोहन भागवत ने कहा है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम  (CAA) से किसी को कोई खतरा नहीं है. उन्होंने कहा कि देश में मुस्लिम समुदाय को भ्रमित करने की साजिश की गई है. नागपुर में विजयादशमी के कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा कि, हमने देखा कि देश में CAA के खिलाफ प्रदर्शन हुए जिससे समाज में तनाव फैला. 

संघ प्रमुख ने कहा कि कुछ पड़ोसी देशों से सांप्रदायिक कारणों से प्रताड़ित होकर विस्थापित किए जाने वाले लोग जो भारत में आते हैं, उन्हें इस CAA के माध्यम से नागरिकता दी जाएगी. भारत के उन पड़ोसी मुल्कों में साम्प्रदायिक प्रताड़ना का इतिहास है. भारत के इस नागरिकता संशोधन कानून में किसी समुदाय विशेष का विरोध नहीं है. RSS चीफ ने कहा कि जो भारत के नागरिक हैं उनके लिए इस अधिनियम में कोई खतरा नहीं था. बाहर से यदि कोई आता है और वह भारत का नागरिक बनना चाहता है तो इसके लिए प्रावधान मौजूद हैं. . 

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि  इसके बाद भी कुछ अवसरवादी लोगों ने इस कानून का विरोध करना आरम्भ कर दिया और ऐसा  माहौल बनाया कि इस देश में मुसलमानों की तादाद न बढ़े इसलिए ये कानून बनाया गया है. इसके बाद इस कानून का विरोध शुरू हो गया. देश में तनाव व्याप्त हो गया. 

MP उपचुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, विधायक राहुल लोधी ने दिया इस्तीफा

इजराइलियों पीएम बेंजामिन के खिलाफ शुरू किया प्रदर्शन, कर रहे इस्तीफे की मांग

अमेरिका के इस चर्च को बंद करने का हुआ एलान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -