सुरक्षा जांच अधिकारियों को दौड़ाया

Dec 04 2017 11:49 AM
सुरक्षा जांच अधिकारियों को दौड़ाया

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के भोजपुर थाना इलाके में, रविवार को फायरिंग हो गई। यह फायरिंग ग्रामीणों ने की। ग्रामीणो ने यूपी एटीएस और एनआईए के दल को घेर लिया। फायरिंग के दौरान मेरठ अपराध शाखा के सिपाही तहजीब सहित अन्य सुरक्षाकर्मी और लोग घायल हो गए।

जानकारी सामने आई है कि, एनआईए का दल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख रविंदर गोसाई की हत्या के मामले में गांव में पहुंचे थे। उन्हें, हत्याकांड के मामले में मलूक नामक व्यक्ति की तलाश थी, मगर जैसे ही एनआईए का दल पुलिस बल के साथ गांव में पहुंचा ग्रामीणों ने उन्हें दौड़ा दिया। गौरतलब है कि,यह हत्याकांड पंजाब के लुधियाना में हुआ था। घायलों को मेरठ के शासकीय चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है।

रविंदर गोसाई की हत्या के मामले से जुड़ा, आरोपी हथियार आपूर्तिकर्ता मलूक मोदीनगर इलाके में पडने वाले भोजपुर थाना क्षेत्र के नहाली गांव में रहता है। सूचना के आधार पर, एनआईए की टीम ने उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम के साथ गांव में दबिश दी।

मिली जानकारी के अनुसार, एनआईए की टीम जैसे ही गांव में पहुंची तो गांव वालों ने उन्हें घेर लिया और टीम के लोगों के साथ हाथापाई करने लगे। इसी दौरान गांव में घात लगाकर, बैठे कुछ लोगों ने टीम पर फायरिंग कर दी जिसमें मेरठ क्राइम ब्रांच का सिपाही तहजीब के पांव में गोली लग गई, जबकि कई अन्य पुलिसकर्मी भी घायल होने की सूचना है। गोली लगने से घायल सिपाई को मेरठ के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मैट्रिक की छात्रा ने की खुदकुशी

बदला लेने के लिए ब्वॉयफ्रेंड ने चुरा ली स्कूटी

ससुराल वालो ने महिला को बुरी तरह से पीटा