CM ने शुरू किया 200 बेड का चिकित्सालय, मृतक का शव लेने के लिए 80 हजार की मांग

नई दिल्ली : दिल्ली में डेंगू का दंश अब तक करीब 20 लोगों को काल का ग्रास बना चुका है। इस दौरान यह बात सामने आई है कि दिल्ली सरकार द्वारा 48 नए चिकित्सालयों में लगभग 800 अतिरिक्त बेड्स को स्वीकृति दी जा चुकी है। दिल्ली के चिकित्सालय मरीजों से पटे हुए हैं। हालात ये हैं कि चिकित्सक उपचार में व्यस्त हैं। उन्हें समझ ही नहीं आ रहा है कि वे एक रोगी को उपचार लिखने के बाद किस व्यक्ति की जांच करें। गंभीर रोगियों की तादाद भी काफी है। मामले में यह बात सामने आई है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा विपक्षी दलों से संकट का सामना करने के लिए सुझाव मंगवाए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री केजरीवाल ने विरोधियों से संकट का हल खोजने का उपाय मांगा है।

मिली जानकारी के अनुसार एक 12 वर्षीय बालिका किरण कुमारी की डेंगू से मृत्यु हो गई है। इस दौरान यह बात भी सामने आई है कि डेंगू से अभी भी बड़े पैमाने पर लोग प्रभावित हो रहे हैं। कुछ लोग इलाज के अभाव में ही दम तोड़ चुके हैं। निजी चिकित्सालयों द्वारा लोगों की मजबूरी का लाभ भी उठाया जा रहा है।

कहा जा रहा है कि निजी चिकित्सालय मरीजों की अधिकता और इमरजेंसी के दौर में मनमाना शुल्क मरीजों से वसूल रहे हैं। हालांकि सरकार द्वारा निजी चिकित्सालयों में भी व्यवस्थाओं का दौरा किया गया। मामले में यह बात सामने आई कि एक चिकित्सालय में डेंगू से मृत व्यक्ति का शव देने से ही इंकार कर दिया गया। इस दौरान करीब 80 हजार रूपयों की मांग भी मरीज से की गई। सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के विभिन्न चिकित्सालयों का दौरा किया, यही नहीं उन्होंने राजीव गांधी चिकित्सालय में करीब 200 बेड की चिकित्सालय का दौरा भी किया। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -