रेलवे ने 1214 चूहे पकड़ने के लिए खर्च किए 10 लाख रूपए

Sep 02 2015 01:48 PM
रेलवे ने 1214 चूहे पकड़ने के लिए खर्च किए 10 लाख रूपए

नई दिल्ली : पिछले 8 महीनों में रेलवे ने चूहों को पकड़ने के लिए 10 लाख रुपये खर्च किए हैं. इस दौरान 1,214 चूहे पकड़े गए हैं. ये चूहे कोलकाता, दिल्ली, चेन्नई और मुंबई की ओर जाने वाली 12 ट्रेनों में पकडे गए हैं. चूहों को पकड़ने के लिए 10 कर्मचारी तैनात किए गए हैं. जो रोजाना 12 ट्रेनों के 96 कोचों में रैट कैचर लगाकर चूहों को पकड़ते हैं.

पिछले 8 महीनों में सबसे ज्यादा 330 चूहे गोरखपुर-कोलकाता से पकड़े गए. एक कर्मचारी ने बताया कि चूहों को पकड़ने में खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. उसने बताया कि छोटे चूहे तो रैट कैचर में आसानी से आ जाते हैं लेकिन बड़े चालाक होते हैं.

वरिष्ठ कोचिंग डिपो ऑफिसर डीके तिवारी ने बताया कि रेलवे के लिए चूहे बड़ी समस्या हैं. चूहों को पकड़ने के लिए एक संस्था को काम दिया गया है जो रोजाना चूहों को ही पकड़ने का काम करती है. इससे चूहों की संख्या में कमी आई है.