सुन बस एक ही ख्वाहिश है,की तुझे खुद से ज्यादा चाहूँ

सुन बस एक ही ख्वाहिश है,की तुझे खुद से ज्यादा चाहूँ

सुन बस एक ही ख्वाहिश है,की तुझे खुद से ज्यादा चाहूँ,

मैं रहू या ना रहू मेरी वफ़ा हमेशा याद रहेगी।