रोज़ तेरा ज़िक्र करता हूँ

tyle="text-align:justify">मोहब्बत की न सही मेरे सलीके की तो दाद दे,
रोज़ तेरा ज़िक्र करता हूँ बगैर तेरा नाम लिए

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -