रोहित वेमुला दलित छात्र नहीं थाः तेलंगाना पुलिस

रोहित वेमुला दलित छात्र नहीं थाः तेलंगाना पुलिस

नई दिल्ली: संसद के दोनों सदन में जिस मसले पर महाभारत छिड़ा हुआ है, वो है रोहित वेमुला की आत्म हत्या का मसला। बजट सत्र के पहले दिन से लेकर तीसरे दिन तक बसपा सुप्रीमो मायावती जांच के लिए गठित कमेटी में दलित को शामिल किए जाने की मांग करती रही।

इस बीच तेलंगाना पुलिस ने हाइ कोर्ट में कहा है कि रोहित दलित नहीं था। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुलिस ने कोर्ट में जो रिपोर्ट दाखिल की, उसमें कहा गया है कि रोहित दलित छात्र नहीं था, इसलिए उसका मामला एसटी-एससी एक्ट के तहत नहीं आता।

मालूम हो कि रोहित की आत्‍महत्‍या के बाद इस मुद्दे पर जमकर राजनीति हुई थी कि वो एक दलित छात्र था। हालांकि, सरकार और मंत्री लागातार यह कहते रहे कि वो दलित छात्र नहीं था। अब पुलिस की रिपोर्ट में भी इस बात का खुलासा हो गया है।