बिहार में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ, तेजस्वी यादव के घर जमा हुए सैकड़ों राजद कार्यकर्ता

बिहार में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ, तेजस्वी यादव के घर जमा हुए सैकड़ों राजद कार्यकर्ता

पटना: देशभर में लॉकडाउन के कारण लोग अपने घरों में कैद हैं, किन्तु बिहार में नियम-कायदों को सियासी कदमों के तले रौंद दिया गया है. पूर्व डिप्टी सीएम और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव आज गोपालगंज जाने की जिद पर अड़ गए हैं. गाड़ियों के काफिले और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के बीच सोशल डिस्टेंसिंग की दूरी के वादे हवा हो गए हैं. पुलिस और राजद के बीच तनातानी जारी है.

पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर के बाहर विधायकों और पार्टी नेताओं का भारी हुजूम लगा हुआ है. न मास्क, न सोशल डिस्टेंसिंग. लॉकडाउन के सभी नियमों का मज़ाक बनाया जा रहा हैं. अभी भी तेजस्वी यादव अपनी मां और पूर्व सीएम राबड़ी देवी और भाई तेज प्रताप यादव के साथ गोपालगंज जाने की जिद पर अड़े हुए हैं. हालांकि, पटना पुलिस ने स्पष्ट कर दिया है कि किसी सूरत में कानून नहीं तोड़ने दिया जाएगा. दरअसल गोपालगंज में राजद से संबंधित तीन लोगों की हत्या पर सियासत गर्म है और आरोपों में फंसे है जेडीयू नेता. तेजस्वी की मांग है कि आरोपी को फौरन अरेस्ट किया जाए और इसी सियासी रोड पर वो पटना से गोपालगंज जाने पर तुले हुए हैं.

मीडिया से बात करते हुए राज्य के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने कहा है कि, 'यदि सरकार काम न कर रही हो, लोग मर रहे हो, भूख से, गोलियों से, अपराधी लोगों की हत्या कर रहे हैं, ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि पीड़ित के आंसू को पोंछे और सरकार की जिम्मेदारी है कि अपराधी को गिरफ्तार करे.'

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने नियुक्त किए परिसीमन सदस्य

इस पड़ोसी मुल्क को कोरोना संकट में भारत से भेजे गए कृषि उत्पाद

टिड्डियों के भारत पर हमले के बाद पाकिस्तान ने किया ऐसा काम