आरजेडी के दो नेता विवादों में, जेडीयू ने मौका लपका

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता और अररिया से सांसद सरफराज आलम पर एक चिकित्सक से गाली-गलौच करने का और भोजपुर के बड़हरा से आरजेडी विधायक सरोज यादव पर एक सहायक अभियंता के साथ गाली-गलौच करने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगने के बाद मुख्य विपक्षी दाल के ये दोनों नेता विवादों से घिर गए है.अब इन दोनों मसलो पर जेडीयू ने आरजेडी की खिंचाई का काम शुरू कर दिया है. जेडीयू के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने कहा, ‘कहा जाता है कि विरासत की अच्छाई या बुराई आने वाली पीढ़ी को मिलती है, इस हालात में भी आरजेडी का राजनीतिक ‘लंपटीकरण’ समाप्त नहीं हुआ. सांसद सरफराज के परिजनों के आतंक से एक डॉक्टर इस्तीफा देने को तैयार है, जबकि बड़हरा में एक विधायक एक दलित इंजीनियर की जान लेने की धमकी दे रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को बताना चाहिए कि इन घटनाओं से वे कितना सहमत हैं. उन्होंने साथ ही कहा कि आरजेडी का अब तक दलितों को लेकर ‘माइंडसेट’ नहीं बदला है. अररिया के सांसद के भय से एक चिकित्सक ने त्यागपत्र दे दिया है. आरजेडी नेताओं पर आरोप लगने के बाद जनता दल (युनाइटेड) ने इसे राजनीति का ‘लंपटीकरण’ बताते हुए पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव से सफाई मांगी है.  अररिया के सांसद सरफराज आलम पर सदर अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक डॉ. जे एन माथुर को धमकी देने का आरोप लगा है. आरजेडी सांसद की धमकी से आहत डॉ. माथुर ने पद से त्यागपत्र दे दिया. डॉ. माथुर ने आरोप लगाया, ‘मोबाइल से फोन कर सांसद ने मुझ पर कई आक्षेप लगाते हुए अमर्यादित भाषा में पद से हटवाने की धमकी दी.  इसके बाद पद पर बने रहना मेरे लिए संभव नहीं है. यही कारण है कि मैंने प्रभारी पद से त्यागपत्र दे दिया है.’ 

अररिया के जिलाधिकारी हिमांशु शर्मा ने बुधवार को कहा, ‘अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक डॉ. माथुर ने त्यागपत्र दे दिया है लेकिन वे अपने पद पर बने रहेंगे. त्यागपत्र में लगाए गए आरोपों की जांच कराई जा रही है.' उन्होंने माना कि डॉ. माथुर हतोत्साहित हैं, परंतु उन्हें समझाया गया है और वे काम पर लौट आए हैं. इस बीच सांसद सरफराज आलम ने इन सारे आरोपों को निराधार बताया है. 

वहीं दूसरी तरफ भोजपुर जिले के बड़हरा से आरजेडी विधायक सरोज यादव के खिलाफ बाढ़ नियंत्रण विभाग में पदस्थापित सहायक अभियंता श्रीनिवास राम ने मंगलवार को बड़हरा थाना में रिपोर्ट लिखवाई जिसमे उन्होने विधायक पर जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. एक सप्ताह पहले इस मामले में विधायक और इंजिनियर की बातचीत का ऑडियो हुआ वायरल होने के बाद इंजिनियर द्वारा जिले के एसपी से सुरक्षा की गुहार लगाई गई थी. एसपी ने जांच के बाद एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे. बड़हरा थाने में विधायक सरोज यादव के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई है.

 

जेडीएस के नेता की पत्नी का शव पंखे से लटका मिला

लालू परिवार के खाते राष्ट्रीयकृत बैंकों में नहीं हैं- मोदी

कांग्रेस के खिलाफ 1984 में भी ऐसे ही एकजुट हुआ था विपक्ष

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -