कोरोना के बाद नई बीमारी का खतरा! चपेट में आए 50 प्रतिशत लोगों ने गँवाई जान

विश्व अभी कोरोना संक्रमण से उबर भी नहीं पाया है और अब नया खतरा मंडराने लगा है। अब बर्ड फ्लू के नए घातक रूप में सामने आने से चीन सहित पुरे विश्व में एक डर बना हुआ है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, चीन में H5N6 बर्ड फ्लू से मनुष्यों के संक्रमित होने के मामलों ने समस्या को बढ़ा दिया है। 2014 में बर्ड फ्लू से मनुष्यों के संक्रमित होने का प्रथम मामला सामने आने के पश्चात् अब तक 48 व्यक्ति H5N6 बर्ड फ्लू की चपेट में आ चुके हैं। मतलब कोरोना के पश्चात् अब ब्लू फ्लू का केंद्र भी चीन बन गया है।

वही जिन व्यक्तियों के इस संक्रमण की चपेट में आने की पुष्टि हो चुकी है, उनमें से आधे व्यक्तियों की मौत हो चुकी है तथा बाकी सभी गंभीर रोग से पीड़ित हैं। मतलब ब्लू फ्लू की चपेट में आने वाले 50 प्रतिशत शख्स मौत के मुंह में जा चुके हैं। बीमारी की गंभीरता एक्सपर्ट्स के लिए चिंता का विषय है।

वही दूसरी तरफ देश में कोरोना के नए मामलों में निरंतर कमी देखी जा रही है. बीते 24 घंटों में कोरोना के 14, 313 नए मामले सामने आए जो बीते 224 दिन में अब तक की सबसे कम संख्या है वहीं मौजूदा रिकवरी रेट 98.04 फीसदी दर्ज किया गया जो मार्च 2020 के पश्चात् से सबसे अधिक है बीते 24 घंटों में 26,579 स्वस्थ होने से कुल रिकवरी रेट बढ़कर 3,33,20,057 हो गया. वहीं अब तक देश में 95.89 करोड़ व्यक्तियों को कोरोना टीके की खुराक दी जा चुकी है. वही प्राप्त हुई खबर के अनुसार, एक्टिव केस कुल मामलों के 1% से भी कम हैं, जो वर्तमान में 0.63% है. मार्च 2020 के पश्चात् से ये सबसे कम मामले हैं भारत का एक्टिव केसलोएड 2,14,900 है जो 212 दिनों में सबसे कम है बीते 109 दिनों के लिए साप्ताहिक सकारात्मकता दर (1.48%) 3% से कम है

सनी लियोनी ने इंटरनेट पर लगाई आग, तस्वीर देख उड़े फैंस के होश

सरकार ने सभी एयरलाइंस से कहा- "सांसदों के लिए जारी की जाए नई प्रोटोकॉल...."

प्रत्येक भारतीय को मिलेगा मेडिकल इंश्योरेंस का लाभ, जानिए क्या है केंद्र सरकार का प्लान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -