बॉडी बनाने का सही रास्ता

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो अक्सर में जिम में बहुत वक्त बिताते हैं। दूसरों को देख देख कर बहुत सारी कसरतें करते हैं और नतीजों के लिए परेशान रहते हैं। उनका यह सोचना होता है कि इतनी मेहनत के बाद भी उनके शरीर पर इसका असर क्यों नहीं दिखाई देता। सिर्फ जिम जाकर वजन उठाने भर से बॉडी नहीं बनती, इसके लिए बहुत सी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है. डाइट से लेकर एक्सरसाइज टेक्निक और तय किये गए लक्ष्य को अचीव करने में लगने वाला एफर्ट, ये सब बातें बहुत मायने रखती है.

मसल्स बनाने और बॉडी को ग्रो करने में जितना रोल कसरत का है उससे कम रोल डाइट और नींद का नहीं है।. आइये जानते हैं कि क्या है शानदार बॉडी बनाने का फुल प्रूफ प्लान। पतले या कम वजन वाले लोगों को जिम में कम वक्त बिताना चाहिए। आप एक दिन में केवल एक बॉडी पार्ट की तीन से चार कसरतें ही करें। हर सेट की शुरुआत में इतना वेट लगायें कि आप 12 से ज्यादा रैप न निकाल पायें। आखिरी सेट हैवी हो कि आप 4 से 6 रैप ही निकाल पायें। कसरत से पहले हल्का फुल्का वार्मअप करें और कसरत के बाद हल्की फुल्की स्ट्रेचिंग।

बॉडी बनानी है तो अपनी लिमिट्स को हर बार पुश करना होगा। खुद को चैलेंज करके ही आप अच्छी बॉडी बना सकते हैं। जितना हैवी वेट लगाएंगे उतना ही ज्यादा आपकी मसल्स ग्रो होने के चान्सेस बढ़ेंगे। एक ही वेट पर एक महीना गुजारने वाले तो फिर बॉडी बनाना एक सपने की तरह ही रहेगा। गेन करने के लिए आपको अपनी जरूरत से हर दिन कम से कम 500 कैलोरी ज्यादा लेनी होगी। हम जो कुछ भी खाते हैं उससे हमें कैलोरी मिलती है।

प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट तीनों से हमें कैलोरी मिलती है। जब आप जिम करने लगते हैं तो आपकी जरूरत वैसे ही बढ़ जाती है। यानी बॉडी ग्रो करने के लिए अपनी सामान्य जरूरत, कसरत की जरूरत और फिर ग्रो करने की जरूरत को पूरा करना होगा। इसलिए अपनी डाइट तो आपको बढ़ानी ही पड़ेगी। कसरत करने से हमारी बॉडी में जो टूट फूट होती है उसकी मरम्मत का काम उस वक्त होता है जब हम सो रहे होते हैं। सोते वक्त ही हमारी बॉडी ग्रोथ हार्मोन रिलीज करती है। इसलिए पूरी नींद लेना बहुत जरूरी है। जितना आप बॉडी को रेस्ट देंगे उतना आपकी बॉडी को ग्रो करने का चांस मिलेगा।

सप्लीमेंट्स का यूज़ करें तो ध्यान रखिये की आपको अपने कोच और डॉक्टर से इस बारे में जरूर सलाह लेनी चाहिए। अगर नेचुरल तरीके से आप प्रोटीन ले सकते हैं तो इस से अच्छी बात हो ही नहीं सकती। सप्लीमेंट्स के बारे में तब सोचे जब आप नेचुरल तरीकों से इसे न ले पाते हों. वजन बढ़ाना है तो भी आप अपनी डाइट में फेरबदल करके ऐसा करिये। वेट गेनर को न ही इस्तेमाल करें तो बेहतर है।

जिम जाते हैं तो इन वर्ड्स का मतलब भी..

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -