जब मैच में दर्शकों के आने पर लगी पाबंदी तो क्लब ने किया यह काम

कोरोना वायरस के कारण ज्‍यादातर देश लॉकडाउन है. इस वजह से खेल इवेंट्स भी ठप्‍प हैं. हालांकि कुछ देशों में खिलाड़ी मैदान पर लौट चुके हैं और टूर्नामेंट भी शुरू हो चुके हैं. मगर इन टूर्नामेंट पर भी कोरोना वायरस का प्रभाव साफ नजर आ रहा है. खिलाड़ी एक दूसरे से दूरी बनाए हुए हैं और मैच बिना दर्शकों के खेले जा रहे हैं. बिना दर्शकों के मैच खेलना हालांकि मुश्किल होता है, मगर साउथ कोरिया के एक फुटबॉल क्‍लब ने इसका अजीत तोड़ निकाला और फिर इसके बाद उन्‍हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा. मामला बढ़ता देख इस क्‍लब ने बाद में माफी मांगी.

दरअसल साउथ कोरिया की शीर्ष फुटबॉल चैंपिय‍नशिप शुरू हो चुकी है, जो पहले 29 फरवरी से शुरू होनी थी, मगर कोरोना वायरस के कारण इसे टाल दिया गया था. रविवार को एफसी सिओल ने अपने घरेलू मैदान पर ग्वांगजू के खिलाफ मुकाबला खेला और इस मुकाबले के दौरान दर्शकों के खाली स्‍टैंड को भरने के लिए मेजबान क्‍लब ने कुर्सियों पर सेक्‍स डॉल को बैठा दिया. हालांकि उनकी इस हरकत को फैंस ने ही पकड़ा.

ऐसे समझ आया पूरा माजरा: फैंस यह मैच ऑनलाइन देख रहे थे और इसी बीच उनकी नजर स्‍टैंड पर पड़ी, जहां दर्शकों के स्‍टैंड में फैंस को कुछ बोर्ड नजर आए. इसके बाद उन्‍हें पूरा माजरा समझ आ गया. फैंस के कहा कि यह हैरान करने वाला है कि क्‍लब की नजर इस मामले पर नहीं पड़ी कि जो डॉल्‍स कुर्सी पर बैठाई गई है, वो अडल्‍ट चीज है. मामले की गंभीरता को देखते हुए क्‍लब ने इंस्‍टाग्राम और फेसबुक पर माफी मांगी. उन्‍होंने कहा कि लीग के 17वें मैच के दौरान हुई गलती के लिए फैंस से माफी मांगते हैं. एफसी सियोल ने कहा कि यह डॉल्‍स वास्‍तविक लोगों की तरह नजर आ रही थी. इन्‍हें वहां पर बैठाने से इजाजत देने से पहले इसकी जांच की गई की कि यह अडल्‍ट चीज से संबंधित तो नहीं है और यह बताया गया कि वह कपड़ों को डिस्‍प्‍ले करने के लिए आमतौर पर इस्‍तेमाल करने वाले पुतले होंगे. क्‍लब ने कहा कि बिना किसी सफाई के ये उनकी गलती थी और माफी मांगते हैं.

ARLC : इन स्टेडियम में आयोजित होगी रग्बी लीग

जूनियर एनटीआर के जन्मदिन पर रिलीज़ हो सकता उनका फर्स्ट लुक, सामने आए खास वजह

कोहली ने की RSS संगठन सेवा भारती की प्रशंसा, बोले- आपने अद्भुत कार्य किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -