उद्योग जगत को ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद

उद्योग जगत को ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद

महंगाई में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है और इसको देखते हुए अब उद्योग जगत को भी यह उम्मीद है कि रिज़र्व बैंक ब्याज दरों में 0.25 से 0.50 प्रतिशत तक कटौती कर सकता है. इस मामले में ही वाणिज्य एवं उद्योग मंडल एसोचैम ने एक रिपोर्ट भी जारी की है जिसके अनुसार अगस्त माह के दौरान उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा महंगाई के रिकॉर्ड को 3.66 प्रतिशत पर देखा गया है, यह भी बताया गया है कि यह RBI के 2016 तक निर्धारित स्तर से कम है. इसके साथ यह भी देखने में आया है कि थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई भी स्तर कम हुआ है.

इसके चलते रियल एस्टेट, विनिर्माण, ऑटोमोबाइल और ऐसे कई सेक्टर अल्पकालिक इंटरेस्ट रेट्स में कटौती की उम्मीद कर रहे है. इसके अलावा आपको यह भी बता दे कि इंटरनेशनल लेवल पर कमोडिटी की कीमत कम हुई है जिससे अगस्त महीने में थोक महंगाई का रिकॉर्ड भी शून्य से 4.95 प्रतिशत निचे आ गया है. मामले को ध्यान में रखते हुए एसोचैम का कहना है कि यदि उपभोक्ता मांग को बढ़ाया जाना है तो ब्याज दरों में कटौती की जाना बेहद जरुरी है. इसके द्वारा निजी क्षेत्र का निवेश बढ़ाये जाने को लेकर मदद भी मिलने की उम्मीद है.