समुद्र में आग का गोला बनी Euroferry Olympia, जोर से चिल्लाते रहे 250 लोग तो कुछ समंदर में कूदे

कोर्फू: इटालियन फेरी (Italian Ferry) में आग लगने के दूसरे दिन भी कम से कम 12 ट्रक ड्राइवर लापता हैं। बताया जा रहा है यूरोफेरी ओलंपिया (Euroferry Olympia) में लगी आग से बचावकर्मियों की बोर्डिंग रूक गई है। वहीं टगबोट्स (Tugboats) ने जहाज को द्वीप (island) के करीब ले जाने में कामयाबी हासल कर ली है। दूसरी तरफ ईआरटी टीवी का कहना है कि बीते शनिवार दोपहर को नौका कॉर्फू (Corfu) के उत्तर में लगभग 6 समुद्री मील (लगभग 11 किमी) की दूरी पर थी।

वहीं दूसरी तरफ, कोस्टगार्ड्स का कहना है कि लापता सभी लॉरी चालकों (Lorry drivers) में सात बुल्गारिया (Bulgaria) से, तीन ग्रीस (Greece) से, एक तुर्की (Turkey) से और एक लिथुआनिया (Lithuania) से है। वहीं अब तक आग लगने का कारण अज्ञात बना हुआ है। इस मामले में मिली जानकारी जहाजरानी मंत्री जियानिस प्लाकिओटाकिस (Giannis Plakiotakis) ने कहा कि, 'समुद्री दुर्घटना और घटना जांच सेवा की एक टीम जांच शुरू कर दी है। टीम जांच करने के लिए क्षेत्र में है।' ग्रीक राज्य एजेंसी एएनए ने यह भी बताया कि जहाज पर गर्मी 500 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गई थी। उसके बाद फिर से आग लगने के बाद आसमान में काले धुएं का एक घना बादल छाया है।

इस मामले में एएनए ने कहा कि जलते जहाज पर सवार बचावकर्मियों ने भीषण गर्मी, घने धुएं और अंधेरे के कारण शुक्रवार शाम काम रोक दिया। बीते रात आग लगने के बाद शुक्रवार को 280 यात्रियों को कोर्फू पहुंचाया गया। आपको बता दें कि ओलंपिया ग्रीस से इटली जा रहा था। फेरी के कप्तान और दो इंजीनियरों को बीते शनिवार को अभियोजक के सामने लाया गया था। वहीं Shipping Minister Giannis Plakiotakis ने स्काई टेलीविजन को बताया कि, आग बुझाने के बाद, किसी भी ईंधन को बाहर निकालने और समुद्री प्रदूषण को रोकने के लिए नौका को सुरक्षा के लिए ले जाया जाएगा।

मेडागास्कर में चक्रवातों से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी की गयी आपातकालीन निधि

74 साल बाद पाकिस्तान के करतारपुर में परिवार फिर से एकजुट

कोविड महामारी को खत्म करने के लिए, डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने सहयोग और वित्तपोषण का आह्वान किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -