जानिए क्या कहते हैं राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के तीन रंग

Jan 23 2020 08:20 PM
जानिए क्या कहते हैं राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के तीन रंग

हर साल गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है। आप सभी जानते ही होंगे कि गणतंत्र दिवस पर हमारा संविधान लागू हुआ था। ऐसे में इस दिन सभी लोग बहुत धूम-धाम से एन्जॉय करते हैं और इस दिन लोग अपने हाथों में तिरंगा लेकर घूमते हैं। कई जगहों पर तिरंगा लहराया जाता है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं हमारे राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे में तीन रंग केसरिया, सफेद और हरा का क्या मतलब होता है। जी दरअसल इन तीन रंगों का अपना महत्व है और इनके दार्शनिक मायने भी निकाले जाते हैं। तो आइए जानते हैं इन रंगों का महत्व।

# केसरिया - कहा जाता है केसरिया रंग को बलिदान का प्रतीक मानते हैं। जी हाँ, यह रंग राष्ट्र के प्रति हिम्मत और निस्वार्थ भावनाओं को दिखाता है और यह रंग बौद्ध और जैन जैसे धर्मों के लिए धार्मिक महत्व का रंग माना जाता है। इसी के साथ यह रंग सभी धर्मों के अहंकार को मुक्ति और त्याग का भी संदेश देने वाला कहा जाता है। केसरिया रंग को आध्यात्म और ऊर्जा का प्रतीक भी मानते हैं। केसरिया रंग को हिंदू धर्म की निशानी भी माना जाता है।

# सफेद रंग - तिरंगे के बीच में रहने वाला सफेद रंग शांति और ईमानदारी का प्रतीक कहा जाता है। जी दरअसल भारतीय दर्शन शास्त्र के अनुसार, सफेद रंग को स्वच्छता और ज्ञान का भी प्रतीक कहा गया है। कहते हैं मार्गदर्शन और सच्चाई की राह पर हमेशा चलना चाहिए, यह रंग बताता है।

# हरा रंग - तिरंगे के सबसे नीचे हरा रंग रहता है जो विश्वास, उर्वरता, खुशहाली, समृद्धि और प्रगति का प्रतीक माना जाता है। वहीं दर्शन शास्त्र के मुताबिक़, हरे रंग को उत्‍सव के माहौल से भी जोड़ा जाता है। इसी के साथ फेंगशुई के अनुसार हरा रंग कई बीमारियों से भी राहत दिलाने वाला भी कहा जाता है। इसी के साथ हरा रंग पूरे भारत में हरियाली दिखाता है और आंखों को सुकून देने वाला माना जाता है। फेंगशुई के अनुसार इसे विकास, स्वास्थ्य और सौभाग्य का भी प्रतीक कहते हैं।

आज शुरू होगी फुल ड्रेस रिहर्सल परेड, बंद रहेंगे मेट्रो स्टेशन

Republic Day Sale: इस धमाकेदार ऑफर के साथ मिल रहा है Redmi 8A, जानें क्या है इसकी खासियत

ASUS के इन स्मार्टफोन पर मिल रही है भारी छूट, जानें आकर्षक ऑफर्स