काशी विश्वनाथ से लेकर बदरीनाथ धाम तक..., राजपथ पर निकली झांकियों में दिखे ये स्थल, Video

नई दिल्ली: देशभर में आज अपने 73 वें गणतंत्र दिवस की खुशियाँ मनाई जा रही हैं। इस बीच राजपथ से भी विराट भारत की तस्वीरें देखने को मिल रही हैं। राजपथ पर माँ वैष्णों देवी से लेकर काशी विश्वनाथ और बाबा बद्रीनाथ धाम को राज्यों की झाँकियों में दर्शाया गया। इसके साथ ही शहीद-ए-आज़म भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के बलिदान को भी एक बार फिर इन झाँकियों के जरिए याद कराया गया। देश में हुए छोटे-बड़े विकास की झलक गणतंत्र दिवस की परेड में देखने को मिल रही है।

 

परेड शुरु होने से पहले विंग कमांडर्स ने हेलीकॉप्टर से राजपथ पर पुष्पवर्षा की। इसके बाद देश की सामरिक शक्ति का प्रदर्शन किया गया। सबसे पहले मेघालय की झाँकी सलामी राजपथ पर पहुँची। मेघालय की झाँकी में उनके 50 वर्षों का प्रदर्शन है और साथ ही राज्य की इकॉनमी में महिलाओं के योगदान को सम्मान भी। इस झाँकी में बांस और बेंत से हस्तशिल्प को दर्शाया गया है। वहीं, गुजरात की झाँकी आदिवासी क्रांतिवीरों की समर्पित नज़र आई। एक सदी पहले जो जनजातियों ने ब्रिटिशों की दमनकारी नीतियों के खिलाफ आवाज उठाई थी, ये झाँकी उन्हीं वीरों को श्रद्धांजलि है।

 

हरियाणा की झाँकी में खेलों पर फोकस किया गया है। तस्वीर में देख सकते हैं कि कैसे Tokyo Olympics में खिलाड़ियों ने जो देश का नाम रौशन किया उसे इस झाँकी के जरिए दिखाया जा रहा है। नीरज चोपड़ा द्वारा देश के लिए जीता गया गोल्ड मेडल भी इस झाँकी का प्रमुख आकर्षण है। वहीं, उत्तराखंड की झाँकी में सिखों के मुख्य तीर्थ हेमकुंड साहिब, टिहरी डैम, बद्रीनाथ धाम सहित चार धाम के लिए चल रही योजना ‘ऑल-वेदर रोड’ को दिखाया गया है। 

गणतंत्र दिवस पर उत्तराखंड की टोपी और मणिपुर का गमछा पहने दिखे पीएम मोदी, जानें इसके सियासी मायने

'भारतीय चुनाव प्रक्रिया कई देशों के लिए बेंचमार्क..', राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर बोले PM

सपा की पहली सूची में 31 मुस्लिम और 12 यादव उम्मीदवार, क्या चुनाव में काम आएगा MY फैक्टर ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -