जेब में भूलकर भी ना रखें मोबाइल, नर्क बन सकती है अच्छी-खासी जिंदगी !

जेब में भूलकर भी ना रखें मोबाइल, नर्क बन सकती है अच्छी-खासी जिंदगी !

सारी दुनिया फोन या मोबाइल के फायदों से भली-भाँति परिचित है. लेकिन इसके भयानक नुकसान के बारे में काफी कम लोग ही जानते है. आज हम मोबाइल को लेकर जो रिपोर्ट आपके समक्ष रखने जा रहे हैं, उसे पढ़कर आप मोबाइल को खुद से दूर रखना ही बेहतर समझेंगे. क्योंकि मोबाइल खतरनाक रेडिएशन निकलती है जो कि हमारे स्वास्थ के लिए काफी हानिकारक है. 

यह बात भी पहले से ही चर्चा में हैं कि हाई SAR (स्पेसिफिक अब्जॉर्प्शन रेट) वैल्यू वाले बॉडी को सेल्यूलर लेवल पर नुकसान पहुंचाते हैं. खासकर तब जब अपने फोन को कानों पर लगाया जाता है. लेकिन आपको यह भी बात दें कि यह मनुष्य की प्रजनन क्षमता पर भी बुरा प्रभाव छोड़ते है. 

रिसर्चर्स का मानना है कि फोन से निकलने वाला रेडिएशन स्पर्म के लिए नुकसान दायक हैं और ये इनफर्टिलिटी का कारण भी बन सकता है. सेंट्रल यूरोपियन जर्नल ऑफ यूरोलॉजी ने अपने साल 2014 की रिसर्च में पाया कि जिन पुरुषों ने अपने फोन को लंबे समय तक सामने की जेब में रखा, उनमें स्पर्म की संख्या कम थी और DNA फ्रैंगमेंटेशन के साथ स्पर्म सेल्स की संख्या ज्यादा बताए गयी थी. शोध के निष्कर्ष के मुताबिक़, 'ऐसे पुरुष जो पिता बनने के लिए खुद को तैयार कर रहे हैं, खासकर जब उन्हें फर्टिलिटी की समस्या मौजूद हो, तो इस स्थिति में यह बेहतर होगा कि ट्राउजर की जेब में मोबाइल फोन को लंबे समय तक ना रखा जाएं. जबकि दूसरी ओर Vox.com की रिपोर्ट में कहा गया है कि फर्टिलिटी के लिहाज से महिलाओं की तुलना में फोन रेडिएशन का ज्यादा असर पुरुषों पर पड़ता है. 

 

Samsung जल्द ही लॉन्च करने जा रहा है अपना यह शानदार स्मार्टफोन

अब नहीं होगी अकाउंट हैक की टेंशन, आ गया गूगल क्रोम का नया एक्सटेंशन

आते ही होश उड़ा देगा सैमसंग Galaxy S10+ लिमिटेड एडिशन, मिलेगी 1TB स्टोरेज और 12GB रैम

पॉप-अप सेल्फी कैमरा से लैस होगा Oppo F11 Pro, रियर में मिलेगा 48MP का कैमरा