सिल्क स्मिथा को इस तरह मिली पहचान

सिल्क स्मिथा को इस तरह मिली पहचान

विजयालक्ष्मी वाडलापति, जिन्हें उनके स्टेज नाम सिल्क स्मिता के नाम से जाना जाता है, भारतीय फिल्म अभिनेत्री थीं, जो मुख्य रूप से दक्षिण भारतीय फिल्मों में काम करती थीं। सिल्क स्मिता का आज ही के दिन जन्म हुआ था। सिल्क स्मिता फिल्म उद्योग में पहली बार 1979 में बनी तमिल फिल्म वंदीचक्करम में एक छोटी सी भूमिका के रूप में नजर आई, जिसमें उनके किरदार का नाम "सिल्क" था। ये अपने करियर के 17 वर्षों में मलयालम, तेलुगू, तमिल, कन्नड़ तथा हिन्दी भाषाओं की 450 फिल्मों में दिखाई दे चुकीं थीं। ये 23 सितम्बर 1996 को चेन्नई के अपने अपार्टमेंट में मृत पाई गईं, जिसे देखने से ये आत्महत्या ही प्रतीत हुई।

स्मिता ने अपना करियर एक्ट्रेस के रूप में नहीं, बल्कि कलाकारों के टच-अप के काम करते हुए आरम्भ किया था तथा बाद में इन्हें एक्ट्रेस के रूप में एक छोटा सा रोल मिल गया। इन्हें विनु चक्रवर्ती, जो फ़्लौर मिल के डायरेक्टर थे, उन्होंने ढूंढ निकाला। उन्होंने इनका नाम परिवर्तित कर स्मिता कर दिया तथा उनकी पत्नी ने इन्हें अंग्रेज़ी सीखाया तथा नृत्य सिखाने का भी प्रबंध किया। किन्तु उन्हें एक ही तरह के रोल मिलने लगे तथा अपने पूरे करियर में उन्हें बस उसी तरह के ही रोल प्राप्त होते रहे।

स्मिता का जन्म तेलुगू परिवार में रामल्लू तथा सरसम्मा के यहाँ हुआ था। चौथी कक्षा में ही अपने परिवार के आर्थिक कारणों की वजह से इन्हें विद्यालय छोड़ना पता था। इनके परिवार ने इनकी शादी काफी कम उम्र में ही करा दी। उसके पति तथा सास-ससुर उसके साथ बेहद बुरे तरीके से व्यवहार करते थे, पर फिर भी वो उन लोगों के साथ ही थी। सिल्क बहुत कम तथा करीबी मित्रों  से घिरी हुई रहती थी तथा कभी बहुत शीघ्र दोस्त नहीं बनाती थी। इन्हें इनके जल्द गुस्से में आने तथा सीधे सीधे बात कह देने की वजह से भी जाना जाता है, तथा इस वजह से ये कभी कभी घमंडी भी लगने लगती हैं। उनके मित्रों तथा फैंस के मुताबिक वो बहुत दयालु तथा बच्चे के समान थी।

मुंबई में 2 दिसंबर को उद्योगपतियों से मिलेंगे यूपी के सीएम योगी

COVID19 के चलते कपल को कैंसिल करनी पड़ी शादी लेकिन किया ऐसा काम कि हर तरफ हो रही वाह-वाही

रिलीज होते ही छाया साहिल शर्मा का ये पंजाबी सॉन्ग