रिलायंस की तीसरी तिमाही का मुनाफा 38 फीसदी बढ़कर 20,539 करोड़ रुपये

 

बाजार पूंजीकरण के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने शुक्रवार को घोषणा कि की चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में उसका समेकित शुद्ध लाभ 37.9 प्रतिशत बढ़कर 20,539 करोड़ रुपये हो गया। कंपनी की सकल बिक्री 52.2 प्रतिशत बढ़कर 209,823 रुपये हो गई। 

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश डी। अंबानी ने तीसरी तिमाही पर टिप्पणी की "मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि रिलायंस ने वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में सराहनीय प्रदर्शन जारी रखा है। हमारे सभी व्यवसायों के महत्वपूर्ण योगदान के साथ, हमने रिकॉर्ड परिचालन प्रदर्शन हासिल किया है।" 

अक्टूबर-दिसंबर 2021 तिमाही के लिए, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सालाना आधार पर 29.9 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 33,886 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड समेकित EBITDA पोस्ट किया। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी की प्रति शेयर आय (ईपीएस) 38.1 प्रतिशत बढ़कर 28.1 रुपये हो गई।

कंपनी ने डिजिटल सेवाओं से 25,200 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड तिमाही राजस्व दर्ज किया, जो साल दर साल 6.4 प्रतिशत अधिक है। पहली बार, डिजिटल सेवाओं के लिए EBITDA ने 10,000 करोड़ रुपये को पार किया। रिकॉर्ड राजस्व और EBITDA के साथ रिलायंस रिटेल की ऐतिहासिक तिमाही रही।

31 दिसंबर, 2021 तक कंपनी का बकाया कर्ज 244,708 करोड़ रुपये था। 31 दिसंबर, 2021 तक, नकद और नकद समकक्ष कुल 241,846 करोड़ रुपये थे। 31 दिसंबर, 2021 को समाप्त तिमाही के लिए, रिलायंस का पूंजीगत व्यय (मुद्रा दर अंतर सहित) 27,582 करोड़ रुपये था।

मसाला बोर्ड ने शुरू किया अपना पहला ऑनलाइन एक्सपोर्ट गेटवे

भारतीय स्टार्टअप ने 2021 में रिकॉर्ड 24.1 अरब डॉलर जुटाए

OMG! अब इंसान के दिमाग में लगेगी चिप, करेगी ये काम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -