'जेननेक्स्ट इनोवेशन हब' से रिलायंस कर रही नई शुरुआत

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज को लगातार मार्केट में अपने कदम मजबूत करते हुए देखा जा रहा है और अब हाल ही में रिलायंस इंडस्ट्रीज अब यहाँ स्टार्ट-अप कम्पनियों को विकसित करने का ना केवल माहौल तैयार करने में लगी हुई है बल्कि साथ ही इनमे पूंजी लगाने में भी भूमिका निभा रही है. साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि यह ऐसा किया जा रहा है ताकि 2022 तक भारत को इस सेक्टर में इजराइल और सिलिकॉन वैली की टक्कर का मंच बनाया जा सके. साथ ही आपको यह भी बता दे कि रिलायंस के स्टार्ट-अप प्रोग्राम "जेननेक्स्ट इनोवेशन हब" माइक्रोसॉफ्ट वेंचर्स के साथ इसकी शुरुआत की है और यह बताया जा रहा है कि इसके अगले चरण में 10 स्टार्ट-अप को और भी शामिल किया गया है.

जेननेक्स्ट वेंचर्स के प्रबंधक भागीदार विवेक राय गुप्ता ने कम्पनी के द्वारा इस मामले में निवेश को लेकर कोई भी बात बताने से मना कर दिया है. लेकिन उन्होंने इस मामले में यह बताया है कि हम यह सुनिश्चित करने के लिए इच्छुक हैं कि हमारे दायरे में वैश्विक कंपनियां हैं, इसके अलावा हम अलग-अलग संस्कृतियों से बहुत कुछ सीख सकते हैं और यहाँ निवेश करने का तरीका भी बहुत अलग है.

सूत्रों से यह बात सामने आई है कि RBI के द्वारा स्टार्ट-अप के लिए विशिष्ट मंच तैयार करने की भी बात सामने आ रही है, इसमें यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि यह मंच पांच अरब डालर का हो सकता है. विवेक रॉय गुप्ता का यह भी कहना है कि स्टार्ट-अप कंपनियों के द्वारा लाजिस्टिक्स, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन और कॉपरेटेट सुरक्षा जैसे कई सेक्टर्स में रिलायंस से जुड़ने का काम भी शुरू हो चूका है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -