अनिल अंबानी की रिलायंस पावर ने इस जापानी कंपनी के साथ किया करार

मुंबईः कर्ज के बोझ तले दबी अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस समूह ने जापान के कंपनी के साथ हाथ मिलाया है। पावर सेक्टर में काम करने वाली रिलायंस पावर ने बांग्लादेश के मेघनाघाट में 750 मेगावाट की गैस आधारित बिजली परियोजना (पहला चरण) की स्थापना के लिए जापान की दिग्गज कंपनी जेईआरए के साथ समझौते किया है। कंपनी ने शेयर बाजार को बताया कि संयुक्त उद्यम में रिलायंस पावर की 51 पीसदी हिस्सेदारी होगी जबकि शेष 49 फीसदी हिस्सेदारी जेईआरए के पास होगी।'

परियोजना की स्थापना समझौते पर हस्ताक्षर होने के 36 महीने के भीतर होगी। कंपनी ने कहा कि इस सौदे से रिलायंस पावर के कर्ज में 835 करोड़ रुपये (11.6 करोड़ डॉलर) की कमी आएगी। जिसका भुगतान उसे अमेरिका - एक्जिम को करना था। मामले में रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी ने कहा, 'इस संयुक्त उद्यम से बांग्लादेश की औद्योगिक वृद्धि और आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा मिलेगा।

स्वच्छ एवं विश्वसनीय एलएनजी आधारित बिजली से देश की ऊर्जा सुरक्षा बढ़ेगी। बता दें कि अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशंस पर करीब 49 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है। कंपनी इससे निपटने के लिए उसे बेच सकती है।  रिलायंस कम्युनिकेशंस और उसकी दो यूनिट स्पेक्ट्रम और टावर्स की बिक्री से कर्जदाताओं को 9,000 करोड़ रुपये से 10,000 रुपये मिलने की उम्मीद है। 2018 में रिलायंस ग्रुप का कुल कर्ज 1.7 लाख करोड़ रुपये था। 

सोने के दामों में फिर आया उछाल, चांदी भी चमकी

लगातार पांचवे दिन पेट्रोल-डीजल के दामों में राहत, जानिए आज के रेट ?

ज्वैलरी निर्यातकों को केंद्र सरकार ने दी यह सुविधा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -