इस माह के अंत तक रिलायंस कैपिटल का हो जाएगा इस कंपनी में विलय

नई दिल्लीः कर्ज के भारी बोझ से दबी अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस समूह धन जुटाने के लिए अपनी एसेट बेच रही है। कंपनी रिलांयस कैपिटल के शेयरों की बिक्री इस माह के अंत तक पूरी कर लेगी। रिलायंस कैपिटल अपने शेयर जापानी कंपनी निप्पोन लाइफ को बेच रही है। रिलायंस निप्पोन लाइफ एसेट मैनेजमेंट (आरएनएएम) कंपनी के सीईओ संदीप सिक्का ने कंपनी की सालाना बैठक में सोमवार को इस बात का ऐलान किया। इस बिक्री के साथ ही आरएनएएम में निप्पोन लाइफ इंश्योरेंस की हिस्सेदारी बढ़कर 75 फीसद हो जाएगी।

इस बिक्री के साथ ही कंपनी म्युचुअल फंड कारोबार से पूरी तरह बाहर हो जाएगी। कंपनी के सीईओ संदीप सिक्का ने बैठक में कहा कि भारत अब निप्पोन लाइफ के लिए मुख्य बाजार है। सिक्का ने कहा, ''निप्पोन लाइफ को रिलायंस कैपिटल की हिस्सेदारी की बिक्री इस महीने के अंत तक पूरी हो जायेगी।’’ उन्होंने कहा कि यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद ब्रांड का नाम बदला जाएगा।

हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि नये ब्रांड का नाम क्या होगा। इसी बीच, केयर रेटिंग्स ने रिलायंस कैपिटल के बॉन्ड की रेटिंग को घटाकर 'डी' कर दिया है। कुछ नॉन-कंवर्टिबल डिबेंचर पर पेमेंट में देरी को लेकर उसकी रेटिंग घटाई गई है। अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस समूह अपने कई एसेटों के सौदे में लगी हुई है। 

कॉरपोरेट टैक्स की दर में बढ़ोतरी करना अब नहीं होगा आसान, जाने कारण

यह बैंक आयोजित करेगा 1,000 गावों में लोन मेला

नकदी के संकट से जूझ रही इस सरकारी कंपनी ने दिया अगस्त माह का वेतन, ऐसे जुटाया धन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -