दो सालों में मोदी और ओबामा के रिश्ते मजबूत हुए हैः अमेरिकी थिंक टैंक

Jun 01 2016 02:07 PM
दो सालों में मोदी और ओबामा के रिश्ते मजबूत हुए हैः अमेरिकी थिंक टैंक

वॉशिंगटन : जिस मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिका ने कभी वीजा देने से इंकार कर दिया था, उसी पीएम नरेंद्र मोदी को अमेरिका ने बाहें फैलाकर स्वागत किया है। इस बात को खुद एक अमेरिकी थिंक टैंक ने स्वीकारा है। 7 जून को मोदी एक बार फिर से अमेरिका यात्रा पर जाने वाले है, जहां वो अमेरिकी कांग्रेस को भी संबोधित करेंगे।

कार्नेगी एंडोमेंट के एश्ले टेलिस ने कल कहा कि पीएम बनने के बाद से ओबामा और मोदी की यह सातवीं मीटिंग होगी। कोई भी देश जो अमेरिका का औपचारिक सहयोगी नहीं है उसके शासनाध्यक्ष के साथ बैठक के मामले में संभवत: यह मोदी और ओबामा दोनों के लिए एक रिकॉर्ड होगा।

बैठक से पहले व्हाइट हाउस के संवाददाताओं के एक समूह से टेलिस ने कहा कि यह व्यक्तिगत रिश्ते के बारे में बात करता है, जो दोनों के बीच पिछले दो वर्षों में विकसित हुआ है और अमेरिका के साथ मोदी के इतिहास को देखते हुए यह आश्चर्यजनक है।

8 जून को मोदी अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित करेंगे। कार्नेगी के मिलन वैष्णव ने कहा कि यह बिल्कुल कुछ ऐसा है, जैसे कल तक जिससे कोई संपर्क नहीं बनाना चाहता था, आज सभी उससे संपर्क साधने को लालायित है। दो वर्षो के शासन में मोदी को पूरे अंक देते हुए टेलिस ने कहा कि किसी खास विफलता की पहचान मुश्किल है।