इस तहर चुने गए ट्रैफिक सिग्नल की बत्तियां..

ट्रैफिक सिग्नल के बारे में आप जानते ही हैं. इसके नियम भी आपको मानने पड़ते हैं. ट्रैफिक सिग्नल की लाइट  जिसमें लाल, पीले और हरे रंग की बत्ती होती हैं. इन लाइट्स का मतलब भी आप जानते होंगे. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर क्यों ट्रैफिक सिग्नल में इन्हीं तीन रंगों को चुना गया. आइये जानते हैं इस रोचक जानकारी के बारे में. जानिए इसके बारे में जिसे आपने पहले कभी नहीं जाना होगा. 

दरअसल, लाल रंग अन्य रंगों की अपेक्षा में बहुत ही गाढ़ा होता है. यह दूर से ही दिखने लगता है. लाल रंग का प्रयोग इस बात का भी संकेत देता है कि आगे खतरा है, आप रूक जाएं. इसी कारण ट्रैफिक के लिए ये लाइट रखी गई.

ट्रैफिक लाइट में पीले रंग का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है, क्योंकि यह रंग ऊर्जा और सूर्य का प्रतीक माना जाता है. यह रंग बताता है कि आप अपनी ऊर्जा को समेट कर फिर से सड़क पर चलने के लिए तैयार हो जाएं.

हरा रंग प्रकृति और शांति का प्रतीक माना जाता है. ट्रैफिक लाइट में इस रंग का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है, क्योंकि यह खतरे के बिल्कुल विपरीत होता है. यह रंग आंखों को सुकून देता है. इसका मतलब होता है कि अब आप बिना किसी खतरे के आगे बढ़ सकते हैं.

3 दिल वाला बिना हड्डी का जीव है Octopus, जानें रोचक जानकारी

ट्रेन में किया महिला ने ऐसा फोटोशूट कि देखने वालों के उड़े होश

कुत्ते ने बचाई डूबती महिला की जान, वीडियो देख बिग बी ने भी की तारीफ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -