इस कारण होता है प्राइवेट पार्ट का रंग बाकि हिस्सों से अलग

आप इस बात से अनजान नहीं होंगे कि अक्सर प्राइवेट पार्ट गहरे रंग के होते हैं. भले ही आपका पूरा शरीर गोरा हो लेकिन आपके प्राइवेट पार्ट्स इससे कहीं अलग होते हैं. आप भी इसके बारे में नहीं जानते होंगे कि ऐसा क्यों होता है. सिर्फ प्राइवेट पार्ट्स ही नहीं उस जगह के आस पास का हिस्सा भी गहरे रंग का होता है जो आपकी बॉडी से मैच नहीं होता. प्राइवेट पार्ट्स के आसपास के हिस्से जैसे इनर थाई और बट्स का रंग भी गहरे शेड का होता है. तो हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि क्यों होता है ऐसा. प्राइवेट पार्ट के डार्क होने के क्या कारण हो सकते हैं और उससे आप कैसे निजात पा सकते हैं. 

गहरा होता है प्राइवेट पार्ट का रंग

* शरीर के जिस हिस्से को आप ढंकते हैं वह गोरा हो जाता है. लेकिन प्राइवेट पार्ट्स शरीर का वह हिस्सा होते हैं जो शुरू से ढंके होते हैं, लेकिन फिर भी काले होते हैं. 

* प्राइवेट पार्ट्स में लगातार नमी बनी हुई रहती है उसका मुख्य कारण है पसीना. शरीर के तापमान को मेन्टेन और वैस्ट को निकालने के लिए पसीना आता है. शायद ही कोई इंसान होगा जो बार-बार प्राइवेट पार्ट्स पर आए हुए पसीने को साफ करता होगा.

* यह पसीना तभी साफ़ होता है जब आप नहाते हैं. यह पसीना भी त्वचा का रंग बदलने के लिए जिम्मेदार होता है. व्यायाम के दौरान या फिर गर्मी के दिनों में अक्सर पसीने की मात्रा बढ़ जाती है. 

* कई लेयर्स के ढका होने के कारण मनुष्य के निजी क्षेत्रों में बराबर हवा नहीं पहुंच पाती. यही कारण होता है कि मनुष्य की त्वचा की बनावट और उसका रंग बदलने लगता है.

छोटे बालों से हो गई हैं परेशान तो लम्बे बालों के लिए करें ये काम

लुक में लाएं बदलाव, करें गजरे का उपयोग

हाथों के लिए अब अपनाएं नए ट्रेंडिंग नेल शेप

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -