क्यों है Suzuki का ये ब्रांड यंग जेनरेशन के बीच मशहुर

क्यों है Suzuki का ये ब्रांड यंग जेनरेशन के बीच मशहुर

इन दिनों एक हफ्ते से लेकर 45 दिनों तक मारुति की पॉपुलर हैचबैक स्विफ्ट पर का वेटिंग पीरियड चल रहा है. अकेले राजधानी दिल्ली में ही स्विफ्ट पर 4 हफ्ते का वेटिंग पीरियड है, वहीं पुणे में 45 दिन और लखनऊ में 1 महीने की वेटिंग है. वहीं स्विफ्ट देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली टॉप-10 कारों में चौथे नंबर है. अकेले इस साल अप्रैल में ही स्विफ्ट की 15,776 यूनिट्स बिकीं. आखिर क्या वजह है कि इस सेगमेंट में तमाम कारें होने के बावजूद लोगों का स्विफ्ट के प्रति मोह अभी भी बरकार है. आगे जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

WhatsApp का डार्क मोड फीचर जल्द यूजर के लिए होगा उपलब्ध, सामने आए ये स्क्रीनशॉट्स

इंडिया में 2005 में स्विफ्ट को लांच किया गया था. वहीं इसकी सफलता से उत्साहित होने के बाद मारुति ने स्विफ्ट बेस्ड सब-कॉम्पैक्ट सेडान कार स्विफ्ट डिजायर लांच की थी. बाजार में लंबे समय से उपलब्ध होने के चलते स्विफ्ट ने ग्राहकों के बीच अपनी पकड़ बना ली है, यही वजह है हैचबैक सेगमेंट में स्विफ्ट भरोसेमंद नाम है. वहीं कई ऐसे खरीदार हैं, जो स्विफ्ट के दूसरी, तीसरी और यहां तक कि चौथी बार खरीदार हैं. स्विफ्ट में 1.2 लीटर का VVT पेट्रोल इंजन और 1.3 लीटर टर्बो डीजल इंजन मिलता है. पेट्रोल इंजन 83 बीएचपी की पावर और 113 एनएम का टॉर्क देता है, वहीं डीजल इंजन 75 बीएचपी की पावर और 190 एएम का टॉर्क देता है. हालांकि इसमें वहीं पुरानी जेनरेशन वाला इंजन ही दिया गया है, जबकि इसकी बॉडी 100 किग्रा कम वजनी है. वही वजन कम होने से यह पहले के मुकाबले ज्यादा माइलेज देने लगी है. कंपनी ने 28.4 किमी प्रति लीटर का माइलेज स्विफ्ट पेट्रोल 22 किमी और डीजल वेरियंट देता है.

Oppo A9x की सेल हुई शुरू, जानिए लीक स्पेसिफिकेशंस

सबसे बड़ी यूएसपी मारुति की है इसका सबसे बड़ा सर्विस नेटवर्क. देश का कोई ऐसा इलाका नहीं होगा, जहां मारुति का नेटवर्क न हो. इसका फायदा स्विफ्ट को भी मिला है. मारुति देश की 35 साल पुरानी कंपनी है और इसका पूरे देश में जबरदस्त डीलरशिप और सर्विस नेटवर्क है. वही मारुति की कारों को कम मैंटिनेंस की जरूरत होती है, और इनका पार्ट्स आसनी से कम कीमत में बाहर मिल जाते हैं. स्विफ्ट पेट्रोल की 6 साल की मैंटिनेंस कॉस्ट 18,390 रुपये पड़ती है, जबकि डीजल वेरिंयट की 6 साल की सर्विस कॉस्ट 26,900 रुपये आती है. यही वजह है कि स्विफ्ट की रीसेल वेल्यू भी काफी अच्छी है।स्विफ्ट का यह सबसे पॉजिटिव पाइंट है. पहली पीढ़ी से लेकर वर्तमान पीढ़ी तक स्विफ्ट के लुक पर कंपनी ने हमेशा से ही ध्यान दिया है. स्विफ्ट शुरू से स्मार्ट लगती है. हालांकि पिछली पीढ़ी की स्विफ्ट में पीछे की सीटों के लिए लेगरूम की कमी की शिकायत थी, लेकिन नई स्विफ्ट में इस शिकायत को दूर कर दिया गया है. पहले से ज्यादा स्पेशियस और स्टाइलिश नई स्विफ्ट से है.

iPhones का नया फोन होगा शानदार, फिंगरप्रिंट सेंसर है ख़ास आकर्षण

स्विफ्ट में पुरानी पीढ़ी की एक कमी थी कि यह ऑटोमैटिक ट्रासंमिशन में नहीं आती थी. स्विफ्ट के पेट्रोल और डीजल दोनों ही वेरिंयट में ऑटोमैटिक ऑप्शन आता है. वहीं स्विफ्ट की कीमत भी 4.99 लाख रुपये से 8.76 लाख रुपये तक है. मारुति ने स्विफ्ट में पूरी कोशिश की है कि किसी की सहूलियत का ख्याल रखा जाए. 

Suzuki Gixxer SF 250 से Bajaj Pulsar 220F कितनी है अलग, ये है स्पेसिफिकेशन

Huawei सीरीज के इस फ़ोन की बैटरी होगी दमदार, जानिए अन्य फीचर

यूजर की Purchase History को गूगल करता है ट्रैक, पढ़ें रिपोर्ट