तेजी से सुधार की ओर बढ़ रहा है बैंकिंग क्षेत्र : शक्तिकांत दास

नई दिल्ली : आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को बताया कि फंसे कर्ज की वसूली से एनपीए में गिरावट आई है और बैंकिंग क्षेत्र बड़े सुधार की ओर बढ़ रहा है। लेकिन सरकारी बैंकों को अपने कामकाज में बदलाव करना होगा। आरबीआई की अर्द्घवार्षिक वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट को पेश करते हुए दास ने कहा कि कमजोर और संकट में फंसे बैंकों को पुनर्पूंजीकरण व्यवस्था के जरिये उबारने की कोशिश है। 

एचडीएफसी ग्रुप बना देश का सबसे बड़ा कारोबारी समूह

सुधार आने की उम्मीद

जानकारी के अनुसार दास ने बताया कि भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में लंबे समय बाद सुधार दिख रहा है। तीन वर्षों में पहली बार चालू वित्त वर्ष के सितंबर में सकल एनपीए में गिरावट दर्ज की गई है। परन्तु एनपीए की राशि अब भी काफी ज्यादा दिख रही है लेकिन आरबीआई के सुधारों का अनुपात बढ़ रहा है। केंद्र सरकार की चालू वित्त वर्ष में 41 हजार करोड़ रुपये अतिरिक्त देने की घोषणा के बाद बैंकिंग क्षेत्र में और सुधार आने की उम्मीद है। वही आने वाले समय में बैंकों की कर्ज वसूली में दिवालिया एवं ऋणशोधन अक्षमता कानून काफी मददगार होगा, इसके लिए तय समय-सीमा का पालन करना बेहद जरूरी है।

आगरा : तीन मंजिल मकान में लगी भीषण आग, मचा हड़कंप

उम्मीद से थोड़ी कम है

प्राप्त जानकारी अनुसार केंद्रीय बैंक के गवर्नर ने वित्तीय क्षेत्र में व्यापक सुधार के लिए नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों की मजबूती पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा खुदरा कर्ज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली इन कंपनियों को अपने जोखिम प्रबंधन पर विशेष ध्यान देना होगा। आईएलएंडएफएस जैसे एनबीएफसी समूह पर 93 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है। जीडीपी वृद्घि के मुद्दे पर कहा कि वर्तमान 7.1 फीसदी की तेजी उम्मीद से थोड़ी कम है।

नेशनल बाॅक्सिंग एकेडमी में अब स्पेशल कोर्स के तहत दी जाएगी ट्रेनिंग

पंजाब क्रिकेट प्रेमियों के लिए खुशखबरी, अगले साल से यहां होंगे इंटरनेशनल मैच

चैम्पियन शूटर सौरभ चौधरी ने फिर बनाया यह रिकॉर्ड

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -