जीरो बैलेंस अकाउंट को लेकर RBI का बड़ा कदम

नई दिल्ली : हाल ही में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया की तरफ से यह जानकारी सामने आई है कि अब आपको सेविंग अकाउंट में जीरो बैलेंस होने की स्थिति में लगने वाला नॉन मेंटीनेंस चार्ज नहीं देना होगा. गौरतलब है कि बैंकों के द्वारा सेविंग एकाउंट्स में न्यूनतम बैलेंस की सीमा तय की गई है. तय सीमा से कम बैलेंस होने की स्थिति में कई बैंकों के द्वारा चार्ज लगाया जाता है. इसके चलते अकाउंट कई बार निगेटिव बैलेंस भी दर्शाता है.

लेकिन अब ऐसा नहीं होना है. मामले में यह भी बताया जा रहा है कि इस आदेश को पिछले साल से ही लागू किया जाना था लेकिन इसके बाद भी कई बैंक ऐसे है जोकि ग्राहकों से नॉन मेंटीनेंस चार्ज लगाया जा रहा है. रिज़र्व बैंक में बताया है कि अब भी यदि कोई बैंक आपके साथ ऐसा करता है और आपके अकाउंट से बैलेंस कम होता है तो इस स्थिति में आप कस्टमर बैंकिंग लोकपाल से शिकायत कर सकते हैं.

बैंक ने बताया है कि अक्सर यह तब देखने को मिलता है जब किसी ग्राहक के द्वारा अपनी नौकरी को बदला जाता है. गौरतलब है कि नौकरी बदलने की स्थिति में उनका सैलरी अकाउंट लगभग बंद ही हो जाता है. ऐसी स्थिति में कई बैंकों के द्वारा न्यूनतम बैलेंस लिमिट को भी जोड़ दिया जाता है. ऐसे में कई ग्रहकों का अकाउंट नेगेटिव बैलेंस दर्शाने लगता है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -