इस मुद्दे पर मुख्य कोच रवि शास्त्री के तीखे तेवर

यो-यो टेस्ट को चयन का बेंचमार्क बनाये जाने का विरोध पूर्व मुख्य चयनकर्ता संदीप पाटिल सहित कई खिलाड़ी कर चुके है मगर मुख्य कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली ने अपना पक्ष साफ करते हुए कहा- "आप टेस्ट पास कीजिए और भारत के लिए खेलिए."शास्त्री ने साफ किया कि यो-यो टेस्ट बरकरार रहेगा और कोहली ने भी कहा कि इसे भावुक होने के बजाय 'कड़े फैसले' के रूप में देखा जाना चाहिए जिससे टीम को फायदा ही मिलेगा. मामला  आईपीएल के टॉप स्कोरर में शामिल अम्बाती रायुडू को लेकर उलझा था जब वे 16.1 अंक नहीं ला पाए.

इसी को लेकर पूर्व चयन समिति के अध्यक्ष पाटिल ने अपना विरोध दर्ज करवाया था. शास्त्री ने कहा, "आप के अंदर कुछ निश्चित काबिलियत है लेकिन अगर आप फिट हो तो आप इसमें निखार ला सकते हो. इसलिए हम यो-यो टेस्ट पर ज़ोर देते हैं. अगर किसी को लगता है कि यह बहुत ज़्यादा गंभीर नहीं है तो यह उनकी भूल है. वह जा सकते हैं."साथ ही कोहली ने भी उदाहरण दिया कि यो-यो टेस्ट जसप्रीत बुमराह जैसे तेज़ गेंदबाज़ के दमखम और सहनशक्ति को दर्शाने का सबूत है.

कोहली ने कहा, "लोग शायद एक छोटी सी चीज़ नहीं देख पाते जो एक विशेष टेस्ट मैच के दौरान हुई थी लेकिन मुझे लगता है कि इससे काफी अंतर पैदा होता है." कोहली ने कहा, "जसप्रीत बुमराह आखिरी टेस्ट के दौरान अपने आखिरी स्पेल में 144 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाज़ी कर रहे थे. और यहीं फिटनेस की असली परीक्षा होती है. जब आपके पास ऐसे लोग होते हैं जो फिट हैं, अच्छे प्रदर्शन के भूखे हैं और तैयार हैं तो आप सिर्फ प्रतिस्पर्धा नहीं करते बल्कि आप मैचों में जीत हासिल करते हो."

बिना मंगलसूत्र रुबीना को देख भड़के पति

इंग्लैंड रवाना होने से पहले यह बोले विराट

धोनी-कोहली के साथ खेलने के बारे में क्या बोले यजुवेंद्र चहल

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -