पंत को किसने बना दिया इतना खूंखार बल्लेबाज़.., जो तेज गेंदबाज़ों को भी जड़ देता है रिवर्स स्वीप

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने गत वर्ष इंग्लैंड के विरुद्ध भारत की घरेलू सीरीज के दौरान ऋषभ पंत के साथ हुई बातचीत का खुलासा किया, जिसने भारत के विकेटकीपर बैट्समैन को एक और आयाम दिया। शास्त्री, जो टीम इंडिया के हेड कोच थे, जब पंत ने ऑस्ट्रेलिया में उन दो ऐतिहासिक पारियों को खेला और फिर घर पर इंग्लैंड के खिलाफ शानदार खेल दिखायाअब एजबेस्टन टेस्ट में फिर पंत ने महज 111 गेंदों पर 19 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 146 रनों की तेज तर्रार पारी खेली।

बता दें कि पंत बीते कुछ वर्षों में पूरी तरह से एक अलग तरह के टेस्ट बल्लेबाज़ रहे हैं, वे ऐसे काम कर रहे हैं जिनकी लोग एक टेस्ट खिलाड़ी से उम्मीद नहीं करते हैं। पंत का बेख़ौफ़ ऐटिटूड, जिसमें विश्व स्तरीय गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाना शामिल है, रातोंरात ही विकसित नहीं हो गया है और न ही पंत शुरू से ऐसे रहे हैं। वास्तव में यह रवि शास्त्री ही थे, जिन्होंने पंत को एक खूंखार बल्लेबाज़ बनाने का काम किया।  

स्काई स्पोर्ट्स पर टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने कहा कि, 'गत वर्ष मैं पंत से बात कर रहा था और मैंने उनसे कहा कि मैं आपको हर बार उसी अंदाज में विकेट फेंकते हुए देखकर बोर हो रहा हूं, क्या आप भी बोर नहीं होते? तो क्यों न आप कुछ अलग करने का प्रयास करें, कुछ और बेरहम शॉट...जैसे रिवर्स स्वीप हो सकता है? और फिर मैंने उसकी आँखों में चमक देखी। एक खिलाड़ी की क्षमता का समर्थन करना बेहद अहम है।' 

इस बातचीत के कुछ समय बाद ही ऋषभ पंत ने उस तरह के शॉट खेलने शुरू कर दिए। शास्त्री ने कहा कि पंत ने अहमदाबाद टेस्ट में दूसरी नई गेंद के खिलाफ जेम्स एंडरसन को रिवर्स स्वीप मारा और उसके बाद सफेद गेंद की श्रृंखला में जोफ्रा आर्चर को भी तेजतर्रार वही शॉट मारा। शास्त्री ने कहा कि, 'उन्होंने जैक लीच की गेंदों पर दो बार रिवर्स स्वीप मारा। अगले टेस्ट में उन्होंने एंडरसन के खिलाफ भी यही किया। सीमित ओवरों की श्रृंखला में जोफ्रा आर्चर को रिवर्स स्वीप मारा।' 

 

पंत की बैटिंग में एक बार फिर वही रवैया नज़र आ रहा था, जब उन्होंने शुक्रवार को बर्मिंघम में श्रृंखला के निर्णायक मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ अपना पांचवां टेस्ट शतक जड़ा। पंत ने केवल 89 गेंदों पर शतक बनाया, जो एक भारतीय विकेटकीपर बैट्समैन द्वारा ज्यादा गया सबसे तेज टेस्ट शतक है। पंत की इस पारी ने भारत को एक बेहतर पोजिशन में ला दिया, क्योंकि भारत ने 98 रन पर 5 विकेट गँवा दिए थे। ऐसे में पंत ने रविंद्र जडेजा के साथ 200 से अधिक रन जोड़े।   

Ind Vs Eng: विराट कोहली फिर फेल, सोशल मीडिया पर दिखा फैंस का गुस्सा

मलेशिया ओपन से बाहर हार का सामना कर बाहर हुई PV सिंधु

Bengaluru FC ने प्रतिभाशाली युवा अमृत गोप समेत इस खिलाड़ी के साथ किया एग्रीमेंट

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -