यदि बदलना चाहते है अपनी किस्मत तो, बदलिए अपना पहनावा

यदि बदलना चाहते है अपनी किस्मत तो, बदलिए अपना पहनावा

हम किसी से भी जब मिलते हैं तो हमारा ध्यान हमेशा उस व्यक्ति की वेशभूषा पर एक ना एक बार जाता ही है। कपड़ो से हमारी पहली पहचान हो जाती है। जिस तरह के हमने कपड़े पहने होते है उसी तरह के विचार भी हमारे मन में आते हैं। कपड़ो की जीवन में बहुत बड़ी भूमिका रहती है। ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक अगर हम राशि के हिसाब से कपड़े का चुनाव करें तो ना केवल सकारात्मक ऊर्जा और उत्साह आता है बल्कि गुडलक भी आता है।

मेष राशि 
मेष राशि के जातकों को हल्के और शालीन कपड़े पहनने चाहिए। ऐसे कपड़े पहनने से इनका व्यक्तित्व गंभीर होगा।

वृष राशि
वृष राशि के जातकों को थोड़े से चमकदार और खूबसूरत रंगों के कपड़े पहनने चाहिए।

मिथुन राशि
मिथुन राशि के जातक पहनावे के मामले में बहुत अधिक सतर्क रहते हैं। इन्हें ये बहुत अच्छे से पता होता है इन्हें क्या पहनना चाहिए क्या नहीं।

कर्क राशि 
कर्क राशि के जातकों का पहनावा मन के मुताबिक होता है। अच्छे मूड में इनका पहनावा बहुत सही होता है अन्यथा ये कुछ भी उल्टा सीधा पहन लेते हैं। इन्हें हमेशा अच्छे कपड़े पहनने चाहिए ताकि मूड अच्छा बना रहे।

सिंह राशि
सिंह राशि के जातकों को हमेशा साफ सुथरे और सही तरीके का पहनावा रखना चाहिए। ऐसा करने से प्रभाव भी बढेगा और संघर्ष भी कम होगा।

कन्या राशि
कन्या राशि के जातक हमेशा उलटे सीधे ही कपडे पहनते हैं, इन्हें अपने पहनावे पर ध्यान देना चाहिए। ऐसा करने से रिश्ते और मन दोनों अच्छे बने रहेंगे। 

तुला राशि
पहनावे और स्टाइल के मामले तुला राशि सबसे ज्यादा ताकतवर राशि है। तुला राशि के जातक अपने पहनावे से दूसरों को प्रभावित कर लेते हैं।

वृश्चिक राशि 
वृश्चिक राशि के जातकों को हर समय अपने पहनावे को लेकर सावधानी रखनी चाहिए, वरना प्रभाव दूसरों पर अच्छा नहीं पड़ेगा।

धनु राशि
धनु राशि के जातकों को हर विशेष कार्य और विशेष दिन अपने पहनावे का ख्याल जरूर रखना चाहिए।

मकर राशि 
मकर राशि के जातकों को अपनी उम्र के अनुसार पहनावा रखना चाहिए।

कुंभ राशि
कुंभ राशि के जातकों को अलग-अलग रंग के कपड़े पहनने चाहिए।

मीन राशि
मीन राशि के जातकों को अपने पहनावे में थोड़े रंग और स्टाइल का ध्यान रखना चाहिए। 

 

कई समय से नहीं मिल पा रहा है सच्चा प्यार तो अपनाये 10 ज्योतिष उपाय

अपनाये ज्योतिष के यह उपाय, भर सकती है आपकी भी सुनी गोद

चाणक्य नीति के द्वारा यदि आप यह करते है तभी आप पति पत्नी कहलाते है