6 महीने की गर्भवती 13 साल की एक और नाबालिग रेप पीड़िता

इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश). उत्तरप्रदेश में बाराबंकी की 13 वर्षीय नाबालिग से रेप मामले की तरह ही इलाहाबाद के थाना सराय ममरेज के एक गांव ऐसा ही मामला सामने आया है. यहां बलात्कार के बाद 13 वर्षीय एक दलित नाबालिग सपना (परिवर्तित नाम)  6 महीने की गर्भवती हो गई है. इस मामले में बलात्कार का आरोप लड़की के चचेरे भाई पर है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रेप का मुकदमा दायर कर लिया है. आपको जनकजरी दे की उत्तर प्रदेश में इस तरह का यह तीसरा मामला है. इसके पहले बारांबकी में 13 वर्षीय रेप विक्टिम  गुड्डी (परिवर्तित नाम) और गोरखपुर में 15 वर्षीय गैंगरेप पीड़िता रौनक (परिवर्तित नाम) गर्भवती होने के बाद बच्चे को जन्म दे चुकी हैं.

इलाहाबाद की घटना पर SC/ST आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया ने कहा यह बहुत ही निंदनीय है कि पीड़िता इंसाफ के लिए पुलिस के पास गई और उसकी शिकायत तक नही लिखी गई. बता दे की इसी प्रकार के मामले में हाईकोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला भी सुनाया है. ऐसे में उस पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए SC/ST कमीशन भी सामने आएगा. बहरहाल इस मामले में यूपी पुलिस से पूछताछ की जाएगी.

क्या है मामला :

इलाहाबाद में रैप से गर्भवती हुई सिर्फ 14 वर्षीय नाबालिग पीड़िता को पंचायत और पुलिस ने एक तुगलकी फरमान सुना दिया है, जिसमे उसे गर्भपात कराने को कहा गया. इंसाफ के बदले उसके आरोपी को 75 हजार का जुर्माना लगा कर रिहा कर दिया गया. हैरान करने वाली बात यह है की इस मामले को लेकर पंचों ने थाने में पंचायत बैठाई थी. आरोप है कि थानेदार और गांव के पंचों ने मिलकर अपराधी को 75 हजार रुपए का जुर्माना लगाकर उसे रिहा कर दिया और साथ ही पीड़िता को इस मुआवजे के बदले कोई कार्रवाई नहीं करने और गर्भपात कराने का फैसला सुना दिया.

 बता दे की इस सनसनीखेज वारदात की पंचायत उस कोतवाली में हुई जहा पीड़ित नाबालिग का परिवार इंसाफ की गुहार लगाने पंहुचा था. आपको बता दे की इस थाने में यह कोई पहला मामला नही है इससे पहले भी यहाँ कई मामले ऐसे ही रफा दफा कर दिए गए है. लेकिन अभी लड़की के परिवार वालो का जमीर नही डगमगाया था और उन्होंने इस फरमान को ठोकर मार दी.

लड़की के परिजनों ने जब इस मामले की गुहार लगाने के लिए आला अधिकारियो के पास पहुंचे तो मामला बढ़ते देख केस दर्ज़ किया गया. कार्यवाही में आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. इंसानियत को तार-तार करने और कानून को खेल समझने वाला यह संगीन अपराध शहर से महज 8 किलोमीटर दूर इलाहाबाद- जौनपुर बार्डर के समीप सरांय ममरेज इलाके में हुआ. यहां एक विधवा महिला की 14 वर्षीय नाबालिग लड़की के साथ गाँव के ही दिवाकर नाम के एक युवक ने बलात्कार किया था.

आरोपी दिवाकर पीड़ित लड़की का करीबी रिश्तेदार भी बताया जा रहा है. जब लड़की तबियत बिगड़ी तो पता चला की बलात्कार से पीड़ित लड़की गर्भवती है. जब लड़की के परिवार ने इंसाफ के लिए थाने का दरवाजा खटखटाया तो पुलिस ने अपनी जिम्मेदारी निभाने के बजाय पंचों को भी थाने बुलवा लिया.

Most Popular

- Sponsored Advert -