जानिए 10 माह बाद इस बाबा को कैसे मिला अपना खोया हुआ लिंग

आज के समय में देश में बलात्कार की घटनाएं तेजी से अपने पैर पसार रही है. कभी-कभी इन घटनाओं का शिकार कुछ मासूम और नाबालिग लड़कियां हो जाती हैं, जो अपराधी से स्वयं की रक्षा करने में कामयाब नहीं हो पाती है, तो वहीं दूसरी ओर कई साहसी और बहादुर महिला ऐसी भी रहती है, जो इस प्रकार की परिस्थिति बनने पर स्वयं की रक्षा के लिए किसी भी घटना को अंजाम देने को तैयार रहती है, जो कि लाज़मी हैं. गत वर्ष देश के केरल राज्य में एक बाबा द्वारा जब एक महिला के साथ बलात्कार की कोशिश की गई थी, तब महिला ने साहस दिखाते हुए खुद को बलात्कार का शिकार होने से बचा लिया था. 

केरल के स्वयंभू संत ने कथित रूप से एक महिला के साथ बलात्कार करने की कोशिश की थी, लेकिन इसके बाद महिला ने बाबा के साथ जो किया था, उसे जानने के बाद अच्छे से अच्छे अपराधी में भी दहशत सी फ़ैल गई थी. दरसअल, महिला द्वारा बलात्कार की कोशिश कर रहे स्वयंभू संत का लिंग काट दिया गया था. जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था. जहां श्रीहरि स्वामी उर्फ गणेशानंद तीर्थपदा ने शुरू में कहा था कि महिला ने नहीं, बल्कि उन्होंने खुद ही अपना लिंग काट लिया था. इस साहसिक काम के लिए तब मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने भी महिला की तारीफ़ की थी. 

संत स्वयंभू पर गत वर्ष मई माह में एक महिला ने कथित रूप से बलात्कार का आरोप लगाया था. महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि श्रीहरि उनके परिवार के धर्मगुरु थे और वह जब 16 साल की थी, तभी से उसका यौन उत्पीड़न कर रहे थे. ऐसे ही एक दिन जब श्रीहरि ने फिर महिला का बलात्कार करने की कोशिश की, तो उसने चाकू से उनका लिंग काट दिया. हालांकि अब इस घटना के 10 माह बीतने के बाद डॉक्टर्स से संपर्क करने के बाद संत स्वयंभू को पता चला कि उनका लिंग अब वापस लगाया जा चुका हैं. उन्होंने कहा कि मुझे अब पेशाब करने में किसी पीड़ा से नहीं जूझना होगा. पहले उन्हें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता था. 

सिरदर्द से छुटकारा दिलाता है 'SEX'

अब पुरुषों को नसबंदी से मिलेगी छुट्टी, देखें कैसे

चावल के दाने से छोटा कंप्यूटर, जल्द होगा आपके हाथों में

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -