विक्रमसिंघे चौथी बार बने श्रीलंका के प्रधानमंत्री

कोलंबो : श्रीलंका में युनाइटेड नेशनल फ्रंट (UNF) के नेता रानिल विक्रमसिंघे ने शुक्रवार को कोलंबो में आयोजित एक समारोह में चौथी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली. शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति सचिवालय में आयोजित था और राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने विक्रमसिंघे को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाई. विक्रमसिंघे की पार्टी ने इस चुनाव में 225 सदस्यीय संसद में 106 सीटें हासिल कर युनाइटेड पीपुल्स फ्रीडम अलायंस (UPFA) को हराया. UPFA चुनाव में 95 सीटन पर जीत मिली.

शपथ ग्रहण समारोह के तुरंत बाद UNF के सबसे बड़े घटक दल श्रीलंका फ्रीडम पार्टी (SLFP) ने कहा कि एक संयुक्त सरकार गठित की जाएगी. राष्ट्रपति सिरिसेना के नेतृत्व वाले SLFP ने गुरुवार को कहा था कि UNF के साथ 2 साल का गठबंधन रहेगा और यदि सब ठीक रहता है तो ऐसे आगे बढाया जाएगा. कोलंबो जिले से 500,000 से अधिक मतों से विजयी होने के बाद विक्रमसिंघे को राष्ट्रपति की मतदान सूची में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है.

शपथ ग्रहण समारोह के दौरान श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे भी वहां उपस्थित थे. उन्होंने कहा है कि वह सांसद के रूप में काम करते रहेंगे और संसद में विपक्षी खेमे में बैठेंगे. श्रीलंका की नई संसद की बैठक पहली सितंबर को बुलाई जा सकती है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -