अखिलेश कौरवों के दुर्योधन है, उनसे जान का खतरा है

लखनऊ : समाजवादी पार्टी से बागी हुए नेता रामपाल यादव ने कहा है कि उन्हें अखिलेश यादव सरकार से जान का खतरा है। सपा से निष्कासित हुए सीतापुर के बिस्वा विधायक रामपाल ने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान ये बातें कही। उन्होने यूपी सरकार की तुलना अंग्रेजो से करते हुए कहा कि यूपी सरकार अंग्रेजो की तरह अत्याचारी है।

रामपाल ने कहा कि भोल-भाले सीएम से मेरी जान को खतरा है। उन्होने अखिलेश को कौरवों का दुर्योधन कहा। रामपाल ने आरोप लगाया कि एम.एल.सी. चुनाव में पैसे लेकर टिकट बाटें गए थे। उन्‍होंने कहा कि जब इन सब मामलों पर मैंने आवाज उठाई तो प्रदेश सरकार ने उल्टा मेरे ऊपर ही कार्रवाई कर दी।

अखिलेश सरकार के पीछे कुछ शैतानी ताकतों का जिक्र करते हुए रामपाल ने कहा कि इसी कारण सरकार अवसरवादी हो गई है। सीएम कुछ लोगों के कहने पर काम करते है। सरकार ने मेरी सुरक्षा भी वापस ले ली है। सरकार में परिवार वाद बुरी तरह फैला हुआ है। रामपाल ने जिला पंचायत के चुनाव के समय सपा से बगावत कर दी थी। इसके बाद सपा से उन्हें बाहर निकाल दिया गया।

हालांकि जब सपा ने आनंद भदौरिया को एम.एल.सी. उम्‍मीदवार बनाया तो समर्थन के लिए सपा ने रामपाल को वापस ले लिया। इसके बाद जब एम.एल.सी. चुनाव हो गए तो अचानक रामपाल की करोड़ों की बन रही बिल्डिंग को एल.डी.ए. ने जमींदोज करवा दिया। रामपाल ने जब इसका विरोध किया तो पुलिस उन्हें घसीटते हुए थाने ले गई। एलडीए का कहना था कि उनकी बिल्डिंग अवैध थी। रामपाल को सपा से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -