राम नवमी पर अपनी समस्याओं के लिए जरूर पढ़े रामचरितमानस की यह चौपाई

Apr 08 2019 10:00 PM
राम नवमी पर अपनी समस्याओं के लिए जरूर पढ़े रामचरितमानस की यह चौपाई

आप सभी को बता दें कि 14 अप्रैल को राम नवमी है. ऐसे में इस दिन रामचरित मानस के दोहे, चौपाई और सोरठा अथवा उनके मंत्रों से इच्‍छापूर्ति की जाती है, जो अपेक्षाकृत सरल हैं. आज हम आपको कुछ चौपाई रामचरितमानस की बताने जा रहे हैं जिन्हे आप सभी को रामनवमी को जरूर पढ़ना चाहिए. आइए जानते हैं.

राम नवमी के दिन रामचरितमानस की चौपाई- 

(1) मनोकामना पूर्ति एवं सर्वबाधा निवारण हेतु-

'कवन सो काज कठिन जग माही।

जो नहीं होइ तात तुम पाहीं।।'

(2) भय व संशय निवृ‍‍त्ति के लिए-

'रामकथा सुन्दर कर तारी।

संशय बिहग उड़व निहारी।।'


(3) अनजान स्थान पर भय के लिए मंत्र पढ़कर रक्षारेखा खींचे-

'मामभिरक्षय रघुकुल नायक।
धृतवर चाप रुचिर कर सायक।।'


(4) भगवान राम की शरण प्राप्ति हेतु-

'सुनि प्रभु वचन हरष हनुमाना।

सरनागत बच्छल (शरणागत वत्सल) भगवाना।।'

(5) विपत्ति नाश के लिए-

'राजीव नयन धरें धनु सायक।

भगत बिपति भंजन सुखदायक।।'

(6) रोग तथा उपद्रवों की शांति हेतु-

'दैहिक दैविक भौतिक तापा।

राम राज नहिं काहुहिं ब्यापा।।' 

(7) आजीविका प्राप्ति या वृद्धि हेतु-

'बिस्व भरन पोषन कर जोई।

ताकर नाम भरत अस होई।।'


(8) विद्या प्राप्ति के लिए-

'गुरु गृह गए पढ़न रघुराई।

अल्पकाल विद्या सब आई।।'

(9) संपत्ति प्राप्ति के लिए-

'जे सकाम नर सुनहिं जे गावहिं।

सुख संपत्ति नानाविधि पावहिं।।'

(10) शत्रु नाश के लिए-

'बयरू न कर काहू सन कोई।

रामप्रताप विषमता खोई।।'

अच्छे स्वास्थ्य के लिए आज जरूर पढ़े शिव जी का यह मंत्र

माँ चंद्रघंटा को खुश करने के लिए आज जरूर करें माँ की यह आरती

हलवे के साथ माँ चंद्रघंटा को लगाए इस चीज़ का भोग, मिलेगा सौम्यता का आशीर्वाद