रमजान : दांत से खून आने पर टूट जाता है रोज़ा

रमज़ान का पाक महीना हर किसी के लिए ख़ास माना जाता है और ख़ासतौर पर यह महीना मुसलमानों के लिए सबसे ख़ास होता है. इस महीने में मुसलमान कोई भी ऐसा काम नहीं करते हैं जो अल्लाह को पसंद ना हो या जिससे उनका रोज़ा टूट जाए. रोजा टूटने की कई वजह होती हैं जिन्हे करने से मुसलमान कतरारते हैं और बचते हैं. आप सभी को बता दें कि रमज़ान का महीना जितना पवित्र माना जाता है उतना पवित्र कुछ नहीं होता इसी वजह से इस महीने में कुछ भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे अल्लाह की नेमत बरसनी बंद हो जाए.

कहा जाता है कि अगर इस महीने में कोई भी पाप करों तो अल्लाह कभी माफ़ नहीं करते और यह बात बिलकुल सच है. आप सभी को एक बात ये भी बता दें कि अगर आप रोज़े के दौरान आप अपना दांत निकलवाते हैं और आपके दांत से खून निकलता है तो आपका रोज़ा कबूला नहीं जाता. जी हाँ, दांत से खून निकलने की परिस्थिति में रोज़ा टूट जाता है.

जी हाँ, रोज़े के दौरान यह भी कहा जाता है कि अपनी आवाज पर संयम रखो और ज्यादा तेज ना हंसो. रोज़ा रमज़ान में सबसे पवित्र माना जाता हैं और अगर रोज़े के दौरान आपके दांत से खून आता है या फिर वह टूट जाता है तो रोज़ा भी टूट जाता है और कबूला नहीं जाता.

रमज़ान 2018 : क्या मेकअप करने से टूट जाता है रोज़ा?

रमज़ान 2018 : आखिर क्यों खजूर से ही खोला जाता है रोज़ा? जानिए

सहरी के लिए ढोल बजाकर मुसलमानों को जगाता है यह सिख बुजुर्ग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -