रमज़ान 2018 : मन बहलाने वाली सभी चीज़े रोज़े पर करती है बुरा प्रभाव

रमजान का महीना इस्लाम धर्म का सबसे बड़ा और खास महीना माना जाता है. इस माह में सभी मुस्लिम समुदाय के लोग रोज़ा रखते है जिसमे वो दिनभर भूखे-प्यासे रहकर गरीबो के दर्द को महसूस कर सकते है. रोज़ा रखने के कई नियम होते है जिनका पालन करना जरुरी होता है अन्यथा रोज़े का महत्व खत्म हो जाता है. जो भी लोग रोज़ा रखते है उन्हें सभी प्रकार की बुराइयों से भी दूर रहना चाहिए. अगर रोज़ा रखने वाला व्यक्ति किसी बुराई की चपेट में आ जाता है तो ये रोज़े पर बुरा प्रभाव भी डालता है. सिर्फ इतना ही नहीं अगर वो कुछ बुरा देखले, बुरा कह दे या बुरा सुन भी लेते है तो भी उनके रोज़े का महत्व खत्म हो जाता है.

ऐसा कहा जाता है कि रोज़ा रखने वाली महिलाए यदि मेकअप करती है तो उनका रोज़ा खत्म हो जाता है. लेकिन जब मुस्लिम समुदाय के कुछ वरिष्ठ लोगों से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, मेकअप मुँह के बाहर ही किया जाता है ये सब पेट के अंदर नहीं जाता है इसलिए मेकअप करने से कभी भी रोज़ा नहीं टूटता है. लेकिन इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि, जितना हो सके मुस्लिम महिलाओ को मेकअप करने से दूर रहना चाहिए.

ऐसा इसलिए क्योकि मेकअप करने के बाद दूसरे लोग उनकी ओर प्रभावित होते है और इस वजह से यौन इच्छा पैदा हो सकती है. इसलिए जितना हो सके मेकअप करने के उपयोग से बचना चाहिए. इसके साथ ही उन सभी चीज़ो से भी दूर होना चाहिए जिससे यौन इच्छा पैदा हो सकती है. मौलाना ने ये भी बताया कि मुस्लिम व्यक्ति जो रोज़ा रखते है उन्हें रमजान के दिनों में इत्र और मेकअप प्रसाधनों के उपयोग से दूर रहना चाहिए.

 

रमज़ान 2018 : क्या मेकअप करने से टूट जाता है रोज़ा?

रमज़ान 2018 : आखिर क्यों खजूर से ही खोला जाता है रोज़ा? जानिए

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -