Raksha Bandhan : वास्तु के अनुसार बांधे अपने भाई को राखी दूर होंगी मुसीबतें

Raksha Bandhan : वास्तु के अनुसार बांधे अपने भाई को राखी दूर होंगी मुसीबतें

रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के प्यार का प्रतिक माना जाता है. इस त्यौहार के दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रेशम का धागा बांधकर रक्षा की कामना करती हैं. भाई-बहन सालभर इस त्यौहार का इंतजार करते हैं. रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के बीच प्यार बढ़ाने में भी सहयोगी होता है. आमतौर पर महिलाएं या लड़कियां किसी भी तरह की राखियां पसंद कर लेती हैं लेकिन हम आपको बता दें राखी बांधते समय और इसे खरीदते समय भी वास्तु के कई नियमों का पालन करना चाहिए-

-बाजार में कई तरह की राखियां मिलती हैं जिनमे साधारण और चमकदार राखियां शामिल होती है. लेकिन वास्तु के अनुसार नेचुरल चीज़ो से बनीं हुई राखियां ही भाई की कलाई पर बांधना चाहिए.

-वैसे तो बाजार में हर तरह की रंग-बिरंगी राखियां मिलती हैं लेकिन एक बात हमेशा ध्यान में रहे कभी भी आप अपने भाई को काले रंग की राखी भूलकर भी ना बांधे. वास्तु के अनुसार लाल, पिली, नारंगी और लाल रंग की राखी बांधना शुभ मना जाता है.

-वास्तु में दिशा बहुत मायने रखती है. ऐसे में आप जब भी अपने भाई को राखी बांधे तो उस समय आप अपने भाई का मुंह उत्तर पूर्व या पूर्व दिशा की तरफ करके बैठाए. इससे आपके रिश्ते में हमेशा ही सकारात्मकता बनीं रहेगी. एक बात हमेशा ध्यान में रखना कि उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ मुंह करके राखी बंधवाना अशुभ माना जाता है.

-हमेशा राखी बांधते समय सभी खिड़की और दरवाजे खोलकर रखे ताकि सकारत्मक ऊर्जा का प्रवेश आपके घर में होता रहे.

-अगर आप अपने भाई या बहन को कोई गिफ्ट देना चाहते हैं तो कभी भी उन्हें नुकीली और कांटे वाली चीज़ गिफ्ट ना करे.

 

देख भाई देख...

आया राखी का त्यौहार

चंदन का टीका रेशम का धागा

रक्षाबंधन पर ऐसा उनके साथ होता है जिनके भाई-बहन नहीं होते

?