रक्षा बंधन : जानें रक्षा बंधन की ये खास बातें

रक्षा बंधन : जानें रक्षा बंधन की ये खास बातें

भाई-बहन के प्यार के रिश्ते का दिन आने वाला है जिसमें भाई बहन का प्यार एक दूसरे के लिए काफी उमड़ता है. भाई बहन का खास दिन होता है रक्षा बंधन का जो श्रावण माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है और इस बार ये 26 अगस्त को मनाया जायेगा. सभी जानते हैं इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती है और अपनी रक्षा का वचन लेती है. तो इसी सूत्र से जुडी कुछ खास बातें जान लें.

आखिर क्यों दी जाती है बकरा ईद पर बकरे की कुर्बानी

वैसे तो ये त्यौहार भाई बहन के प्यार का होता है जिसमें बहन भाई को राखी बांधती है. लेकिन देश की कई जगहों पर वृक्ष और भगवान को भी बाँधी जाती है. इस दिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पुरुष भाईचारे के लिये एक दूसरे को भगवा रंग की राखी बांधते हैं.

कहा जाता है कि रक्षा सूत्र आचार्य कुछ मंत्र उच्चारण भी करते हैं जिसमें कहा जाता है 'जिस रक्षासूत्र से महान शक्तिशाली दानवेन्द्र राजा बलि को बांधा गया था, उसी सूत्र से मैं तुझे बांधता हूं, तू अपने संकल्प से कभी भी विचलित न हो.'

इस त्यौहार पर भोजली या भुजरियां लगाने की परंपरा भी है और ये भाई के कण के ऊपर से निकाली जाती है जिससे भाई की लम्बी उम्र होती है.

206 रूपए के लिए शख्स ने जोखिम में डाली जान

इस पर खास बात ये है कि अमरनाथ की यात्रा रक्षा बंधन के दिन ही पूरी होती है. इसी दिन बर्फ की शिवलिंग भी अपने आकार में आती है.

इस त्यौहार को महाराष्ट्र राज्य में यह त्योहार नारियल पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है. वहीं इस दिन मराठी लोग नदी या समुद्र के तट पर जाकर अपने जनेऊ बदलते हैं और समुद्र की पूजा करते हैं इसके अलावा राजस्थान में इस दिन रामराखी और चूड़ाराखी या लूंबा बांधने का रिवाज़ है. इस तरह ये त्यौहार देश में हर जगह खास होता है.

 

 

यह भी देखें..

कुत्तों से डरकर जब शेर चढ़ गया पेड़..

जब पायलट ने अपने घर पर कर दिया हमला

?