JNU विवाद पर बोले राजनाथ : न्यायालय के फैसले की प्रतीक्षा की जानी चाहिए

Feb 25 2016 11:21 AM
JNU विवाद पर बोले राजनाथ : न्यायालय के फैसले की प्रतीक्षा की जानी चाहिए

नई दिल्ली : जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय और हैदराबाद के केंद्रीय विश्वविद्यालय में उपजे विवाद के हालात पर विशेष चर्चा हुई। इस चर्चा के दौरान केंद्र सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के रूख की निंदा की। राहुल के रवैये की निंदा के साथ ही यह भी कहा गया कि किसी भी विद्यार्थी को परेशान करने की अनुमति किसी को भी नहीं दी जाएगी। पटियाला हाउस कोर्ट में जो भी हुआ उसके दोषियों को माफ नहीं किया जाएगा।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 9 फरवरी को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में नारेबाजी की गई। देश इस तरह की नारेबाजी से असहमत था। इस मामले में सदन ने उसकी निंदा की। अब यह मसला न्यायालय में विचाराधीन है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि न्यायालय में लंबित इस मसले पर फैसला आने की प्रतीक्षा की जानी चाहिए।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देशद्रोह के आरोप को लेकर बहस होने का अंदेशा भी जता दिया गया है। यह भी कहा गया है कि बहस करने की कोई आवश्यकता नहीं है। न्यायालय ही इसका निर्णय करेगी। यदि किसी पर आरोप गलत साबित हुए तो वह बरी होगा।