तेजी से विकसित होती भारत की अर्थव्यवस्था

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भारत की अर्थव्यवस्था को दुनिया की सबसे तेजी से विकसित अर्थव्यवस्था करार दिया.शुक्रवार को चारबाग रेलवे स्टेशन परिसर में वाई फाई एवं एकीकृत सुरक्षा प्रणाली के उद्घाटन के अवसर पर उन्होंने कहा कि पहले देश की अर्थ व्यवस्था को लेकर नकारात्मक धारणा थी जो अटल जी के शासन काल में 8 .4 प्रतिशत की विकास दर के रूप में सामने आई.

संप्रग के दस साल के शासन में जीडीपी में गिरावट आई लेकिन पिछले दो सालों में विकास दर 6 प्रतिशत के नीचे से बढ़कर 7 .6 फीसदी हो गई.अमेरिका दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है लेकिन कहना गलत नहीं होगा कि सबसे तेजी से विकसित होने वाली अर्थव्यवस्था भारत की ही है. 2015 -16 में चीन और अमेरिका से ज्यादा 51 अरब डॉलर का निवेश हुआ है.भारत जल्द ही आर्थिक महाशक्ति बन जाएगा.

रेलवे को बेस्ट परफार्मिंग सेक़्टर बताते हुए गृह मंत्री ने कहा की करिश्माई कम की बदौलत रेलवे में कई लाख करोड़ का निवेश हुआ है.जो पहले कभी नहीं हुआ.आने वाले समय में विकसित देशों की सुविधाएं रेल यात्रियों को मिलने लगेगी.वाई फाई शुरू हो जाने से यात्री ट्रेन या स्टेशन पर बैठकर कई काम कर सकेंगे.गृह मंत्री ने लखनऊ में सर्कुलर ट्रेन चालू करने की इच्छा जाहिर की.

इस मौके पर मौजूद रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि आम आदमी का साधन होने से रेलवे से बहुत अपेक्षाएं हैं.इसीलिए केंद्र सरकार इस ओर विशेष ध्यान डे रही है.सिन्हा ने कहा कि पहले रेलवे में सालाना 48 हजार करोड़ रु. का निवेश होता था ,जो पिछले साल 1 लाख करोड़ रु. का हो गया.जो अगले वर्ष 1 लाख 21 हजार करोड़ रु. का हो जाएगा.लक्ष्य वर्ष 2020 तक 8 लाख 50 हजार करोड़ रु. का निवेश प्राप्त करना है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -